दूल्हे ने फेरे लेने के बाद किया ऐसा काम कि बन गया हजारों लोगों का हीरो

दूल्हे ने फेरे लेने के बाद किया ऐसा काम कि बन गया हजारों लोगों का हीरोबाराती।

मोहनपुर (बिहार)। शादी बारात की बात हो तो हमारे जेहन में खूब घूम-घड़ाका, बैंडबाजा, बड़ी-बड़ी गाड़ियां और घोड़ी पर सजा धजा बैठा दूल्हे की ही तस्वीर आती है, लेकिन हम आपको बताते हैं कि एक ऐसी भी जगह है जहां शादियां में न कोइ शोर, न बैंडबाजा, न बड़ी-बड़ी गाड़ियां और न ही घोड़ी पर चढ़ा दूल्हा नजर आता है। नजर आता है तो सिर्फ बारातियों के सर पर पगड़ी, हाथ में साइकिल और साइकिल पर रखे छायादार वृक्ष के पौधे।

हम बात कर रहे हैँ बिहार के समस्तीपुर जिले के मोहनपुर क्षेत्र की। यह अनोखी पहल पर्यावरण व बेटी संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध दशहरा के सुजीत भगत व उनके साथियों ने की। रामचंद्रपुर दशहरा गाँव के कारू साह का पुत्र संजीव साह (21 वर्ष) दर्जनों बरातियों को लेकर लखिंद्र साह की पुत्री समृता कुमारी को ब्याहने के लिए निकला और सात फेरे लेने के पहले सात गाँवों में पौधे लगाये। दूल्हे को देखने सात गाँव के लोग उमड़ने लगे।

संजीव साह के लिए अपने विवाह में इस प्रकार का नवाचार अपनाना आसान नहीं था़। गांव के पर्यावरणसेवी युवक सुजीत भगत ने अपनी बहन के विवाह से पौधारोपण की जो पहल शुरू की थी, उसमें संजीव साह ने खास भूमिका निभायी थी़।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

दूल्हा संजीव साह बताते हैँ, "शादी के नाम पर फिजुलखर्ची हो रही है, जिससे हजारों परिवार तंगी के शिकार बन रहे हैं। वर्तमान परिवेश में ग्लोबल वार्मिंग और तेजी से घट रहे लिंगानुपात को देखते हुए पर्यावरण संरक्षण और बेटी बचाओ अभियान का संदेश देने के लिए ऐसा निर्णय लिया।"

दुल्हन समृता बताती हैं, "समाज के हित में उठाये गये इस कदम का मैंने और मेरे परिवार के सदस्यों ने समर्थन किया। मैं अपने पति के निर्णय से खुश हूं। आगे भी उनकी मुहिम में मैं कंधे-से-कंधा मिला कर चलूंगी।"

लड़कीवालों को बरातियों ने भेंट किये पौधे

साइकिल पर पौधे लादे हुए बरातियों के साथ दूल्हा जब ससुराल पहुंचा, तो यह अनोखी शादी देखने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ पड़ी़ दूल्हे ने ससुराल में पौधे लगाने से पूर्व रास्ते भर पौधारोपण किया़।

इन गाँवों में दूल्हा-दुल्हन, बारातियों ने लगाए पौधे

सात फेरे लेने से पूर्व बोथपुल, दशहरा, पीरगंज, कुरसाहा, बाकरपुर समेत सात गांवों में पौधे लगाये। दूल्हे के लाये गये पौधों के अतिरिक्त दुल्हन ने भी कई और पौधे लगाये। बरातियों ने अपने साथ ले गये पौधे लड़कीवालों को भेंट किये।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Share it
Share it
Top