सिमकार्ड और गर्ल फ्रेंड ने बिगाड़ा भीम आर्मी के मुखिया का कनेक्शन, पहुंचा जेल 

सिमकार्ड और गर्ल फ्रेंड ने बिगाड़ा भीम आर्मी के मुखिया का कनेक्शन, पहुंचा जेल भीम सेना के मुखिया चंद्रशेखर (फ़ोटो साभार -नेट )

लखनऊ। यूपी पुलिस ने सहारनपुर हिंसा में मुख्य आरोपी भीम सेना के मुखिया चंद्रशेखर को गुरुवार सुबह हिमाचल के डलहौज़ी से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी चंद्रशेखर सहारनपुर दंगे के बाद से फरार चल रहा था। लेकिन यूपी एसटीएफ़ उसके फोन को लगातार ट्रेस कर रही थी। इस दौरान चंद्रशेखर ने हरिद्धार में रहने वाली अपनी गर्लफ्रेंड से दूसरा सिम कार्ड लगाकर बात की। जिस आधार पर एसटीएफ ने उसे ट्रेस कर हिमाचल से धर-दबोचा।

ये भी पढ़ें- जिस भीम आर्मी का चीफ चंद्रशेखर आज गिरफ्तार हुआ है वो दलितों की आवाज़ है या कुछ और ?

एसटीएफ के अधिकारियों का कहना है कि, गुरुवार सुबह चंद्रशेखर हिमाचल के डलहौजी में रुका हुआ था, जहां एसटीएफ टीम ने कमरे का दरवाज़ा खुलवाया। चंद्रशेखर को इस बात का बिल्कुल अंदाजा नहीं था कि, उसके कमरे के बाहर यूपी एसटीएफ के जवान खड़े हैं। जब तक वह कुछ समझ पाता, एसटीएफ के कमांडो ने उसे दबोच लिया। अधिकारियों की मानें तो, बीती रात ही चंद्रशेखर डलहौज़ी आया था।

भीम सेना के मुखिया चंद्रशेखर (फ़ोटो साभार -नेट )

कई सिम कार्ड बदलकर पुलिस को दे रहा था चकमा

वहीं पुलिस सूत्रों की मानें तो चंद्रशेखर पुलिस को चकमा देने के लिए लगातार अपने सिम कार्ड बदल रहा था। इसके पीछे उसका मकसद केवल पुलिस को चकमा देना था। लेकिन मोबाइल फोन न बदलने के चलते उसके ईएमआई नंबर के आधार पर उसे लगातार ट्रेस किया जा रहा था। हालांकि चंद्रशेखर के लगातार लोकेशन बदलने के चलते उसे ट्रेस कर पाना यूपी एसटीएफ के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रहा था।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

इस दौरान चंद्रशेखर राडवेज बस के माध्यम से पंचाब के होशियारपुर पहुंचा, जहां दो दिन रुकने के बाद वह ट्रेन के द्धारा चंडीगढ़ पहुंच गया। इसके बाद चंद्रशेखर हरिद्धार में अपनी गलफ्रेंड को फोन कर उससे मिलने पहुंचा था। उसकी एक गलती ने यूपी एसटीएफ को महत्वपूर्ण लीड मिल गई, क्योंकि चंद्रशेख्रर ने जिस युवती को फोन मिलाया था, एसटीएफ ने उक्त मोबाइल नंबर को ट्रेस कर लिया। इस आधार पर एसटीएफ लगातार चंद्रशेखर की गलफ्रेंड को ट्रेस करती रही। इस दौरान चंद्रशेखर हिमाचल पहुंचा, जहां से वह दोबारा दिल्ली भागने की फिराक में था। लेकिन डलहौजी से उसने दोबारा से अपनी गलफ्रेंड को फोन मिला दिया। तब तक एसटीएफ उसके काफी करीब पहुंच चुकी थी। एसटीएफ की मानें तो, चंद्रशेखर के पास से कई सिम कार्ड मिले है, जिसे वह लोकेशन बार-बार बदलने के लिए इस्तेमाल कर रहा था, बावजूद इसके एसटीएफ ने उसे हिमाचल से धर-दबोचा।

ये भी पढ़ें- मध्यप्रदेश : और उग्र हुआ किसान आंदोलन, पढ़िए पूरा अपडेट

वहीं पुलिस सूत्रों ने बताया है कि, सहारनपुर दंगों के बाद से ही यूपी पुलिस चंद्रशेखर को ढूँढ रही थी। वह लगातार सिम कार्ड बदल-बदल कर फ़ोन पर बात करता था। साथ ही वह जगह भी बदलता रहता था। सवेरे का नाश्ता दिल्ली में तो शाम की चाय चंद्रशेखर चंडीगढ़ में पीता था।

लेकिन, उसकी गर्ल फ़्रेंड ने उसका खेल ख़राब कर दिया। चंद्रशेखर अपनी गर्ल फ्रेंड से लगातार संपर्क में था। इसी युवती की मुखबिरी पर ही चंद्रशेखर पकड़ा गया। उसकी गिरफ़्तारी के बाद भीम आर्मी के राजनैतिक कनेक्शन का भी पता चलेगा, जिसकी पुलिस जांच कर रही है।

सहारनपुर दंगे की फ़ोटो (साभार -नेट )

ये भी पढ़ें- राहुल गांधी रिहा, राजस्थान सीमा पर पीड़ित किसान के परिजनों से मिले

वहीं एसपी सहारनपुर बबलू कुमार ने बताया कि, उत्तर प्रदेश में सहारनपुर में हुई हिंसा का मुख्य आरोपी व भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर को उप्र की स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया। उसे हिमाचल प्रदेश के डलहौजी से गिरफ्तार किया गया है। एसटीएफ चंद्रशेखर को गिरफ्तार करके सहारनपुर लेकर आ रही है। यहां उससे शहर में हुई हिंसा को लेकर पूछताछ की जाएगी। चंद्रशेखर व उसके साथियों पर पुलिस ने 12-12 हजार रुपये का इनाम भी रखा था। इस दौरान हिंसा के मामले से जुड़े 11 आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया है।

ज्ञात हो कि, बीते महीने सहारनपुर के शब्बीरपुर गांव और आसपास के इलाकों में जातीय हिंसा हुई थी। इस मामले में बसपा अध्यक्ष मायावती और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी सहारनपुर पहुंचे थे। मायावती ने जातीय हिंसा के लिए भाजपा सरकार को जिम्मेदार ठहराया था। उन्होंने कहा था कि भाजपा व राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के जातिवादी तत्व सरकारी तंत्र का दुरुपयोग करके माहौल बिगाड़ रहे हैं। वहीं राहुल गांधी ने अपने सहारनपुर दौरे में सरकार पर आरोप लगाया था कि प्रदेश सरकार कानून व्यवस्था का राज कायम करने में पूरी तरह से विफल रही है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top