Top

बीएचयू लापता छात्र मामला: एसएसपी ने पेश की रिपोर्ट, कोर्ट ने कहा- छात्र को लाइये या सीबीआई जांच के लिए तैयार रहिये

बीएचयू के लापता छात्र शिव कुमार त्रिवेदी मामले में सुनवाई करते हुए कोर्ट ने सख्त रवैया अपनाते हुए पुलिस से कहा है कि या तो आप छात्र को लाइये या फिर सीबीआई जांच के लिए तैयार रहिये।

Mithilesh DharMithilesh Dhar   3 Sep 2020 11:15 AM GMT

bhu, missing student, shiv kumar trivediइलाहाबाद हाई कोर्ट में मामले की अगली सुनवाई 22 सितंबर को होगी।

वाराणसी (उत्तर प्रदेश)। बनारस हिंदू विश्वद्यालय के छात्र शिव कुमार त्रिवेदी के लंका चौकी से लापता होने के मामले में इलाहाबाद हाई कोर्ट ने वाराणसी पुलिस को चेतावनी देते हुए कहा कि या तो आप छात्र को लाइये या फिर सीबीआई जांच के लिए तैयार रहिये। कोर्ट ने शासकीय अधिवक्ता को फटकार लगाते हुए वाराणसी एसएसपी द्वारा पेश किये व्यक्तिगत शपथ पत्र को असंतोषजन बताया। मामले की अगली सुनवाई 22 सितंबर को होगी।

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अधिवक्ता सौरभ तिवारी की जनहित याचिका को स्वत: सज्ञान लेते हुए 25 अगस्त को मामले में पहली सुनवाई की थी। तब तीन सिंतबर को होने वाली अगली सुनवाई में कोर्ट ने वाराणसी एसएसपी को व्यक्तिगत शपथ पत्र के साथ तलब किया था।

गुरुवार को हुई सुनवाई के बारे में अधिवक्ता सौरभ तिवारी ने गांव कनेक्शन को बताया, "कोर्ट में वाराणसी पुलिस ने एक नया तर्क पेश किया कि उस दिन जो लड़का थाने लाया गया था वह शिव कुमार था ही नहीं। इस पर मेरी बहस हुई। कोर्ट ने सरकार वकील की दलीलों को लेकर कहा कि यह संतोषजनक नहीं है। कोर्ट ने एसएसपी और शासकीय अधिवक्ता सैयद अली मुर्तजा से कहा या तो आप छात्र को ले आइये या फिर सीबीआई जांच को लेकर तैयार रहिये। 23 सितंबर को सुनवाई की अगली डेट मिली है।"

लापता छात्र शिव त्रिवेदी

गुरुवार को हुई सुनवाई में मुख्य न्यायाधीश कि पीठ नहीं बैठी थी तो उनकी जगह मामले को न्यायाधीश न्यायमूर्ति एसके गुप्ता और न्यायमूर्ति शमीम अहमद कि संयुक्त खंडपीठ ने सुना। एसएसपी वाराणसी को अगली सुनवाई पर भी अदालत में उपस्थित रहने के लिए कहा है।

इस मामले में एसएसपी वाराणसी अमित पाठक ने गांव कनेक्शन को बताया, "पुलिस द्वारा की गई छानबीन की रिपोर्ट हमने सीलबंद लिफाफे में कोर्ट में सौंप दिया है। हमारी आगे की जांच जारी है। पुलिसकर्मियों ने लापवाही की है इसीलिए हमने कुछ पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर भी किया है। हमें 22 सितंबर तक रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।"

क्या है पूरा मामला

बनारस हिंदू विश्वद्यालय (बीएचयू) में बीएससी द्वितीय वर्ष के छात्र शिव कुमार त्रिवेदी 13 फरवरी 2020 से लापता हैं। मूलत: मध्य प्रदेश के जिला पन्ना, के पोस्ट बड़गढ़ी खुर्द, गांव ब्रजपुर के रहने वाले शिव को 13 फरवरी की रात लंका पुलिस अपने साथ ले गई थी। तब से शिव के का कुछ भी पता नहीं है। शिव के पिता प्रदीप कुमार त्रिवेदी छह महीने से अपने बेटे को ढूंढ रहे हैं।

इस पूरे मामले को समझने के लिए गांव कनेक्शन की विस्तृत रिपोर्ट आप यहां पढ़ सकते हैं-

काशी में 6 महीने से शिव को तलाश रहा बेसुध पिता, बीएचयू के छात्र को पुलिस ले गई थी, तब से लौटकर नहीं आया

सुनवाई से पहले लंका थाने के पांच पुलिसकर्मी लाइन हाजिर

सुनवाई से कुछ घंटे पहले वाराणसी एसएसपी (वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक) अमित पाठक ने दो सितंबर की देर रात को लंका थाने पर तैनात पांच पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया है। जिसमें 2 उपनिरीक्षक और 3 कॉन्स्टेबल शामिल हैं। इस बारे में एसएसपी अमित पाठक ने बताया की बीएचयू के लापता छात्र शिव कुमार त्रिवेदी मामले में लापरवाही और उदासीनता बरतने को लेकर ये कार्रवाई हुई है।

शिव कुमार से जुड़ी अन्य खबरें यहां पढ़ें-

पुलिस चौकी से BHU छात्र के गायब होने का मामला: हाई कोर्ट ने कहा- जरूरी हुआ तो CBI जांच होगी, पूरा थाना लाइन हाजिर करूंगा

बीएचयू शिव मामला: जिस बेटे को पढ़ाने के लिए खेत बेच दिया, घर गिरवी रखा वो पुलिस कस्टडी से 6 महीने से लापता है

Updating...

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.