मिस वर्ल्ड बनी भारत की बेटी, बॉडीबिल्डिंग चैंपियनशिप में हासिल किया मुकाम 

मिस वर्ल्ड बनी भारत की बेटी, बॉडीबिल्डिंग चैंपियनशिप में हासिल किया मुकाम अपनी मां के साथ भूमिका (फोटो साभार: फेसबुक) 

लखनऊ। मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता में भारत की बेटी भूमिका शर्मा विनर बनीं। हालांकि ये मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता सुंदरता के आधार पर नहीं फिटनेस और बॉडी बिल्डिंग पर बेस्ड थी। देहरादून की भूमिका शर्मा ने वेनिस में हुए वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल के साथ मिस वर्ल्ड टाइटल जीतकर देश का सिर ऊंचा किया।

भूमिका ने तीन कैटिगरी इंडीविजुअल पोजिंग, बॉडी पोजिंग और फॉल में सबसे ज्यादा अंक प्राप्त किए। हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत के दौरान भूमिका ने बताया, वहां भारतीय टीम में 27 खिलाड़ी थी जिसमें मैं अकेले महिला बॉडीबिल्डर थी। मैंने तीनों राउंड में सबसे ज्यादा अंक प्राप्त किए और देश को गौरवांतित किया।

चैंपियनशिप में 50 प्रतिभागियों ने अलग-अलग देशों से भाग लिया था। हालांकि बॉडीबिल्डिंग भूमिका की पहली पसंद नहीं थी। उनकी मां हंसा मनराल शर्मा, जो कि इंडियन वुमन वेटलिफ्टिंग टीम की हेड कोच हैं, और पिता विश्वविजय शर्मा, व्यापारी उन्हें शूटर बनाना चाहते थे लेकिन किस्मत में कुछ और ही लिखा था।

ये भी पढ़ें: कृषि विश्वविद्यालयों में शिक्षक नहीं, कैसे हो खेती में सुधार ?

तीन साल पहले दिल्ली में एक शूटिंग इवेंट के दौरान एक बॉडीबिल्डिंग कोच से मिलकर भूमिका की जिंदगी बदल गई। उसने शूटिंग छोड़कर बॉडीबिल्डिंग शुरू कर दी और लगातार दो मेडल जीते।

भूमिका ने अपने पैरंट्स को इसके लिए काफी मनाया और शुरुआत में मना करने के बाद पैरंट्स ने खुद भूमिका को बॉडीबिल्डिंग में करियर बनाने की इजाजत दे दी।

ये भी पढ़ें: जापान का ये किसान बिना खेत जोते सूखी जमीन पर करता था धान की खेती, जाने कैसे

भूमिका अब मिस यूनिवर्स टाइटल भी जीतना चाहती हैं जिसकी प्रतियोगिता इस साल दिसंबर में होनी है। इसी के साथ भूमिका उत्तराखंड की पहली महिला बॉडीबिल्डर हैं जो नेशनल और इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म पर अपना नाम दर्ज कराकर आई हैं।

Share it
Top