पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला, 40 जवान शहीद

पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला हुआ हैै। इसमें सीआरपीएफ के कई जवान शहीद हो गए।

पुलवामा में बड़ा आतंकी हमला, 40 जवान शहीद

लखनऊ। जम्मू कश्मीर के पुलवामा में एक बड़ा आतंकी हमला हुआ। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए। यह हमला तब हुआ जब सीआरपीएफ जवानों की एक बड़ी टुकड़ी विस्फोटकों और हथियारों के साथ जा रही थी। सेना की इस टुकड़ी में 40 से अधिक बस थे, जिस पर 2500 से अधिक जवान सवार थे। इनमें से अधिकतर जवान छुट्टियां बीता कर वापस अपने ड्यूटी पर लौट रहे थे। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने इस आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली है। यह एक आत्मघाती हमला था। हमलावर ने बस को टक्कर मारकर विस्फोट किया। न्यूज एजेंसी भाषा के अनुसार हमला करने वाले फिदायिन हमलावर का नाम आदिल अहमद डार है।

घायलों को श्रीनगर के सेना के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मरने वालों की संख्या बढ़ भी सकती है। हमले पर बीजेपी, कांग्रेस, नेशनल कॉन्फ्रेंस और पीडीपी जैसे कई राजनीतिक दलों ने शोक जताई है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने घटना की निंदा करते हुए कहा है कि हमारे वीर जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। लोगों को शहीदों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलना होगा। प्रधानमंत्री ने घायल जवानों के जल्द से जल्द ठीक होने की कामना की।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने तुरंत एक्शन लेते हुए सीआरपीएफ के आला अधिकारियों से बात की। वह कल श्रीनगर का दौरा कर स्थिति का जायजा लेंगे। उन्होंने इस मसले पर राज्य के राज्यपाल सत्यपाल मलिक से भी बात की। सीआरपीएफ के डीजी आरआर भटनागर ने कहा, ''अधिकारी मौके पर हैं, जांच चल रही है। घायलों को आस्‍पताल पहुंचाया गया है। काफिले में 2500 जवान थे।''

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ''जम्‍मू कश्‍मीर में सीआरपीएफ के काफिले पर हमले से व्‍यथित हूं। शहीद जवानों के परिवार के साथ मेरी संवेदना है।' वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने लखनऊ में अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस को इस हमले की वजह से रद्द कर दिया।

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अबदुल्ला ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'यह एक भयानक खबर है। हमले में सीआरपीएफ के जवान शहीद हुए हैं। मैं इस हमले की कड़ी से कड़ी शब्दों में निंदा करता हूं। घायलों के जल्द ठीक होने की मैं प्रार्थना करता हूं। शहीदों के परिवार लिए गहरी संवेदना है।'


वहीं महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट करते हुए लिखा कि कोई भी शब्द इस भीषण आतंकी हमले की निंदा करने के लिए पर्याप्त नहीं है। उन्होंने सवाल भी उठाया कि यह पागलपन आखिर कब खत्म होगा? महबूबा ने सभी राजनीतिक दलों को पार्टी राजनीति से ऊपर उठते हुए कश्मीर मसले के अंतिम संविधान के लिए आगे आने की अपील की।

आपको बता दें कि यह लगातार दूसरा दिन है, जब पुलवामा में विस्फोट हुआ। इससे पहले बुधवार को पुलवामा के एक स्कूल में विस्फोट हुआ था। इस विस्फोट में कई स्कूली बच्चे घायल हुए थे। स्थानीय सूत्रों के अनुसार भारी बर्फबारी के बाद जम्मू-श्रीनगर हाईवे पिछले एक हफ्ते से बंद था। इसलिए आतंकियों को अंदाजा रहा होगा कि जब हाईवे खुलेगी तब बड़ी संख्या में सैनिकों का प्रवेश घाटी में होगा। इसलिए इसे आतंकियो का सुनियोजित हमला बताया जा रहा है।

पढ़ें- जम्मू कश्मीर: पुलवामा के एक निजी स्कूल में विस्फोट, 12 बच्चे घायल


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top