बिहार बोर्ड : मैट्रिक की परीक्षा 21 से 28 फरवरी तक, 22 से 24 जनवरी तक प्रैक्टिकल

बिहार बोर्ड : मैट्रिक की परीक्षा 21 से 28 फरवरी तक, 22 से 24 जनवरी तक प्रैक्टिकलगाँव कनेक्शन

पटना। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति ने मैट्रिक परीक्षा, 2018 का शेड्यूल जारी कर दिया है। मैट्रिक परीक्षा 21 से 28 फरवरी तक दो पालियों में ली जायेगी। इंटर परीक्षा की तरह ही मैट्रिक परीक्षा में भी थ्योरी से पहले प्रैक्टिकल परीक्षा ली जायेगी। प्रैक्टिकल परीक्षा 22 से 24 जनवरी तक चलेगी।

बिहार बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने शनिवार को कार्यक्रम की घोषणा करते हुए बताया कि वार्षिक माध्यमिक परीक्षा का आयोजन 21 से 28 फरवरी के बीच किया जाएगा। परीक्षा दो पालियों में आयोजित होगी।

अंग्रेजी, सामान्य, गणित, मातृभाषा, द्वितीय भारतीय भाषा एवं ऐच्छिक विषयों के तहत उच्च गणित, अर्थशास्त्र, वाणिज्य, संस्कृत, मैथिली, फारसी एवं अरबी विषयों की परीक्षा प्रथम पाली में सुबह 09.30 बजे से दोपहर 12.45 बजे के बीच आयोजित की जाएगी तथा दूसरी पाली में इन विषयों की परीक्षा का समय दोपहर 02.00 बजे से 05.15 बजे तक रहेगा। सामाजिक विज्ञान, विज्ञान तथा ऐच्छिक विषयों के तहत गृह विज्ञान, संगीत, नृत्य एवं ललित कला की परीक्षा पहली पाली में सुबह 09.30 बजे से लेकर दोपहर 12.15 बजे तक की जाएगी तथा द्वितीय पाली में इन विषयों की परीक्षा का समय दोपहर 02.00 बजे से 04.45 बजे तक रहेगा।

मैट्रिक में ऐच्छिक विषयों का प्रैक्टिकल 22 जनवरी से होगा

बिहार बोर्ड ने शनिवार को मैट्रिक परीक्षा 2018 का कार्यक्रम घोषित कर दिया। बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि परीक्षा 21 फरवरी से 28 फरवरी के बीच आयोजित की जाएगी। फरवरी में मैट्रिक परीक्षा के आयोजन से पहले ही ऐच्छिक विषयों जैसे गृहविज्ञान, संगीत, नृत्य एवं ललित कला की प्रैक्टिकल परीक्षा 22 जनवरी से 24 जनवरी के बीच ले ली जाएगी। स्कूल स्तर पर विज्ञान में आंतरिक मूल्यांकन तथा सामाजिक विज्ञान पाठ्यक्रम पर आधारित लिट्रेसी एक्टिविटी एवं प्रोजेक्ट वर्क के साथ-साथ उक्त चारों ऐच्छिक विषयों की अवार्ड शीट संबंधित जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय में 26 जनवरी तक विद्यालय प्रधानों को जमा करनी है। जिला शिक्षा पदाधिकारी अवार्ड शीट्स को बोर्ड कार्यालय में 28 जनवरी तक भेजेंगे।

नेत्रहीन परीक्षार्थी को 10 मिनट अतिरिक्त

नेत्रहीन एवं लिखने में असमर्थ दिव्यांग परीक्षार्थियों को लेखक रखने की अनुमति दी जाएगी। ऐसे परीक्षार्थियों को परीक्षा के लिए 10 मिनट प्रति घंटा अतिरिक्त समय मिलेगा। नेत्रहीन परीक्षार्थियों के लिए गणित के स्थान पर गृह विज्ञान एवं विज्ञान के स्थान पर संगीत विषय की परीक्षा ली जाएगी।

इंटर की तरह पहले होगा प्रैक्टिकल

अध्यक्ष ने बताया कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति द्वारा व्यवस्था में बदलाव करते हुए इंटर की भांति मैट्रिक में भी वर्ष 2018 से वार्षिक परीक्षा के पूर्व ही प्रैक्टिकल परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। यानि फरवरी 2018 में आयोजित वार्षिक माध्यमिक परीक्षा के पूर्व ही जनवरी महीने में प्रैक्टिकल परीक्षा ली जाएगी। सभी पालियों में प्रारंभ में 15 मिनट का समय परीक्षार्थी को प्रश्नों को पढ़ने व समझने के लिए दिया जाएगा।

सेंटअप परीक्षा 27 नवंबर से

बोर्ड अध्यक्ष आनंद किशोर ने बताया कि सभी विद्यालय के प्रधानों को निर्देश दिया गया है कि वे सेंटअप परीक्षा का आयोजन 27 नवंबर से करें। विद्यालय प्रधान सेंटअप तथा नन सेंटअप, अनुपस्थित छात्र-छात्राओं का विषयवार प्राप्तांक सहित परीक्षाफल का विवरण अपने हस्ताक्षर एवं मुहर के साथ साॅफ्ट एवं हार्ड काॅपी में 10 दिसंबर तक जिला शिक्षा पदाधिकारी के कार्यालय में जमा कर देंगे। मैट्रिक परीक्षा-2018 के लिए केवल सेंटअप देने वाले छात्र-छात्राओं का ही परीक्षा में शामिल होने के लिए प्रवेश पत्र निर्गत किया जाएगा।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top