मुजफ्फरपुर में लगे 'नीतीश कुमार मुर्दाबाद' के नारे, परिजनों ने कहा- 'वापस जाओ'

रिपोर्ट- अभय राज, कम्‍युन‍िटी जर्नलिस्‍ट।

मुजफ्फरपुर। चमकी बुखार पर मचे सियासी बवाल के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार आज मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच हॉस्पिटल पहुंचे। उनके साथ सूबे के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी भी मौजूद रहे। इस दौरान अस्‍पताल में मरीजों के परिजनों ने नीतीश कुमार मुर्दाबाद और वापस जाओ के नारे लगाए।

सीएम नीतीश ICU में पीड़ित बच्चों का हाल चाल ले रहे हैं। साथ ही पीड़ित बच्चों के परिजनों से भी बातचीत कर रहे हैं। इस मामले को लेकर सीएम नीतीश अस्पताल में डॉक्टरों के साथ समीक्षा बैठक भी करेंगे।



इससे पहले सोमवार को नीतीश कुमार की बैठक में फैसला किया गया कि चमकी से प्रभावित बच्चों को निशुल्क एंबुलेंस मुहैया कराई जाएगी और पूरे इलाज का खर्च सरकार उठाएगी। वहीं इस बीमारी से मरने वालों के परिजनों को 4 लाख रुपये मुआवजा भी दिया जाएगा। नीतीश कुमार के दौरे के चलते अस्पताल में सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई है। ऐसे में मरीजों और उनके परिवारों को और अधिक मुसीबतों का सामना कर पड़ रहा है।

इसे भी पढ़ें- मुजफ्फरपुर: "मैंने कभी इतने शव नहीं देखे, इतने लोगों को कभी बिलखते नहीं देखा"

बता दें कि बिहार के मुजफ्फरपुर में सैकड़ों बच्चे एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (AES) यानी चमकी बुखार की चपेट में हैं। मुजफ्फरपुर में इस बुखार से मरने वालों की संख्या बढ़कर 108 हो गई है, वहीं अस्पतालों में भर्ती बीमार बच्चों की संख्या बढ़कर 414 हो गई है।

चमकी बुखार से पीड़ित ज्यादातर मरीज मुजफ्फरपुर के सरकारी श्रीकृष्णा मेडिकल कॉलेज एंड अस्पताल (एसकेएमसीएच) और केजरीवाल अस्पताल में एडमिट हैं। अब तक एसकेएमसीएच हॉस्पिटल में 89 और केजरीवाल अस्पताल में 19 बच्चों की मौत हो गई है।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top