उपराष्ट्रपति के इस बयान पर भड़की भाजपा और शिवसेना

उपराष्ट्रपति के इस बयान पर भड़की भाजपा और शिवसेनाउपराष्ट्रपति हामिद अंसारी।

लखनऊ। देश के मुसलमानों में असुरक्षा संबंधी उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी के बयान पर बीजेपी और शिवसेना नेताओं ने तीखी टिप्पणी की है। बीजेपी नेताओं के साथ शिवसेना ने भी तीखी टिप्पणी करते हुए कहा है कि अगर उनको मुस्लिमों में असुरक्षा की भावना दिख रही थी, तो पहले ही इस्तीफा देकर जनता के बीच जाना चाहिए था। बतादें 10 अगस्त को उपराष्ट्रपति का कार्यकाल समाप्त हो रहा है।

ये था मामला

निवर्तमान उप-राष्ट्रपति हामिद अंसारी ने एक इंटरव्यू में कहा था कि देश के मुस्लिमों में बेचैनी का एहसास और असुरक्षा की भावना है। उपराष्ट्रपति के तौर पर अंसारी का दूसरा कार्यकाल गुरुवार को पूरा हो रहा है। हामिद अंसारी ने कहा कि उन्होंने असहनशीलता का मुद्दा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके कैबिनेट सहयोगियों के सामने उठाया है। उन्होंने इसे 'परेशान करने वाला विचार' करार दिया कि नागरिकों की भारतीयता पर सवाल उठाए जा रहे हैं।

ये भी पढ़ें- लोकतंत्र को कमजोर कर रही बीजेपी : अखिलेश यादव

भारत जितनी आजादी कहीं और नहीं

उपराष्ट्रपति के बयान के बाद बीजेपी नेता गिरीराज सिंह ने कहा कि पूरी दुनिया में भारत के नागरिकों से ज़्यादा कोई सुरक्षित नहीं है। यहां कोई कुछ भी कह सकता हैं कोई भी पत्थरबाजों का समर्थन कर सकता हैं कोई भी अलगाववादियों का समर्थन कर सकता हैं। यहां आधी रात को आतंकियों के लिए कोर्ट खुल सकते हैं, इसलिए भारत में हिंदू और मुसलमान सभी सुरक्षित हैं।

हामिद अंसारी की स्पीच स्कॉलर स्पीच थी: ओवैसी

सांसद असदुद्दीन ओवैसी का कहना है कि हामिद अंसारी की स्पीच स्कॉलर स्पीच थी, उस पर कोई टिप्पणी करना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा, आए दिन हमारे मुल्क में जो वाकयात पेश हो रहे हैं, उससे असुरक्षा की भावना पैदा नहीं हो रही है क्या? अगर कोई ट्रेन में जा रहा है तो उसको बीफ के नाम पर जान से मार दिया जाता है। अगर किसी मुसलमान की बीवी और बच्चे टॉयलेट में जाते हैं तो उनको मार दिया जाता है। यकीनन उन्होंने इस सच्चाई को पेश किया है।

ये भी पढ़ें- भारत छोड़ो की वर्षगांठ पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, भारत को गरीबी, गंदगी और सांप्रदायिकता से आजाद करने का संकल्प लें

शिवसेना और बीजेपी की आलोचना पर ओवैसी का कहना है कि हामिद अंसारी साहब पिछले 2 साल में मुस्लिम कम्युनिटी को लेकर पहले भी बोले हैं, उस पर क्यों खामोश बैठे हुए थे, क्या हामिद अंसारी ने तीन तलाक पर राय नहीं दी थी. शिवसेना BJP के लोग उनकी आलोचना करके ठीक नहीं कर रहे हैं. मैं जिम्मेदारी के साथ कह रहा हूं कि वे अपनी जहालत का इजहार कर रहे हैं. पूरे इंटरव्यू को देखना चाहिए. प्रधानमंत्री ने क्या खुद नहीं कहा कि गाय के नाम पर लोगों को मारा जा रहा है, बंद करिए, तो क्या कहेंगे पराइममिस्टर को?

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top