बीएसएफ जवान तेजबहादुर बर्खास्त, बीएसएफ की छवि खराब करने का आरोप

बीएसएफ जवान तेजबहादुर बर्खास्त, बीएसएफ की छवि खराब करने का आरोपपरिवार के साथ तेजबहादुर ।

नई दिल्ली। बीएसएफ की कैंटीन में घटिया खाना मिलने की शिकायत कर सुर्ख़ियों में आए बीएसएफ जवान तेज बहादुर यादव को बर्खास्त कर दिया गया है। इस साल 9 जनवरी को बीएसएफ के एक जवान तेजबहादुर यादव ने वीडियो जारी करके सीमा पर जवानों की दयनीय स्थिति के बारे में देश का ध्यान खींचा था। इस वीडियो में तेजबहादुर यादव ने बीएसएफ के जवानों को खराब खाना परोसे जाने की शिकायत की थी। बर्खास्तगी की कार्रवाई कोर्ट ऑफ इंक्वायरी में हुई।

इन्क्वारी में बीएसएफ की छवि खराब करने की बात आई सामने

बीएसएफ ने माना कि तेज बहादुर ने झूठी शिकायत करके फोर्स की छवि खराब करने की कोशिश की। कोर्ट ऑफ इन्क्वारी में यह बात सामने आई कि जिन भी जवानों से पूछताछ की गई, उनमें से किसी ने भी खराब खाना परोसे जाने की शिकायत नहीं की। बता दें कि तेज बहादुर का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। बाद में तेज बहादुर ने एक अन्य विडियो पोस्ट करके उत्पीड़न किए जाने का आरोप भी लगाया था। बीएसएफ ने उसके सभी आरोपों को गलत पाया है।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

तेज बहादुर के परिवार ने धमकाने का लगाया आरोप

तेज बहादुर के परिवार ने आरोप लगाया था कि जवान को धमकाया जा रहा है और उन्हें मानसिक यातना दी जा रही है। तेज बहादुर का विडियो वायरल होने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय और केंद्रीय गृह मंत्रालय ने इस घटना का ब्योरा मांगा था। तेज बहादुर के खिलाफ अनुशासनहीनता सहित कई आरोपों की जांच चल रही थी। उसकी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति की याचिका भी खारिज कर दी गई थी। तेज बहादुर की पत्नी के भाई विजय ने बताया, "परिवार उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहा है लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो रहा है।" परिवार ने दावा किया था कि इस बारे में बीएसएफ को दो पत्र भी लिखे लेकिन कोई जवाब नहीं मिला।
ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top