फेक न्यूज़ "पाकिस्तानी लेडीज फ्रीस्टाइल कुस्तीबाज" और "RSS की दुर्गा वाहिनी की संन्ध्या फडके " की असलियत

इस विडियो में आपको डब्ल्यूडब्ल्यूएफ जैसा एक अखाड़ा दिखाई देगा लेकिन फर्जी मैसेज पढ़ने के बाद आपको यहां बस हिंदू बनाम मुसलमान दिखाई देगा।

फेक न्यूज़ पाकिस्तानी लेडीज फ्रीस्टाइल कुस्तीबाज  और  RSS  की दुर्गा वाहिनी की संन्ध्या फडके  की  असलियत

बड़े बुजुर्ग एक कहावत कह गए थे, आँखों देखे और कानों सुने पर भरोसा मत करना। मतलब जरूरी नहीं कि आपकी आखें जो देख रही हों और कान जो सुन रहे हों वह सब सच ही हो। लगता है जैसे यह कहावत आज के 'फेक युग' के लिए गढ़ी गई थी। फेक यानि फर्जी, सरासर झूठी बातें। अभी हाल ही एक ऐसा विडियो वायरल हो रहा है जिस पर महज लोगो हमारा यानि गांव कनेक्शन का है, बाकी विडियो के साथ जो मैसेज वह पूरी तरह झूठ है।

इस विडियो में आपको डब्ल्यूडब्ल्यूई जैसा एक रिंग या अखाड़ा दिखाई देगा, इसमें एक महिला पहलवान कुछ चिल्ला रही है उसकी आवाज साफ नहीं है, शायद औरों को ललकार रही है। इसके बाद दर्शकों के बीच से गेरूए सलवार-सूट में एक दबंग सी लड़की अखाड़े में उतरती है और पल भर मे ललकारने वाली महिला पहलवान को धूल चटा देती है। 2 मिनट के इस विडियो के साथ एक मैसेज भी ज्ञानीजन फारवर्ड कर रहे हैं। यह मैसेज कुछ इस तरह है :

"एक हिंदू ओरत की ताकत देखीये ओर बाकी हिन्दूओ का अंदाजा लगाईये। मुम्बई मे एक पाकिस्तानी लेडीज फ्रीस्टाइल कुस्तीबाज महिला रिंग मे खडे हो कर भारतीय महिला ओ को गाली देते हुये रिग मे आने के लिये चैलेन्ज करने लगी इसके चैलेन्ज को स्वीकार करते हुये RSS की दुर्गा वाहिनी की महिला संन्ध्या फडके नाम की महिला रिंग मे उतर कर आई आगे क्या हुआ इस वीडियो मे आप खुद देखे"

यह भी देखें: प्रणब मुखर्जी का मनमोहन सिंह के बारे में एक तीखा बयान वायरल हुआ था, ये है उसका सच

विडियो की असलियत

मैसेज लिखने वाले की कल्पना की उड़ान गजब की है, इन्होंने ललकारने वाली जिस महिला को ' पाकिस्तानी लेडीज फ्रीस्टाइल कुस्तीबाज महिला' कहा है वह भारत की ही हैं और उनका असली नाम है सरबजीत कौर, कुश्ती के दौरान नाम है बीबी बुलबुल (अंग्रेजी में BB BULLBULL) इनका नाम गूगल करें तो मालूम होगा कि कई अखबारों ने इन पर आर्टिकल लिखे हैं। अब सुनिए बुलबुल की पुकार सुनकर अखाड़े में कूदने वाली महिला की असलियत, वायरल मैसेज के हिसाब से इनका नाम संन्ध्या फडके होना चाहिए पर इनका नाम है कविता दलाल और यह महाराष्ट्र की ना होकर हरियाणा की रहने वाली हैं। इनका आरएसएस की दुर्गा वाहिनी से दूर-दूर का वास्ता नहीं है। बीबी बुलबुल या सरबजीत कौर भारत की पहली महिला पहलवान बताई जाती हैं और सीडब्ल्यूई या कॉन्टिनेंटल रेसलिंग एंटरटेनमेंट एकेडमी से जुड़ी हैं जिसके संस्थापक और मालिक ग्रेट खली या अपने दलीप सिंह जी हैं। कविता दलाल कविता देवी के नाम से कुश्ती लड़ती हैं कभी-कभी वह अपना नाम अखाड़े में HARD KD बताती हैं। शुरूआत उन्होंने भी 2016 में खली के सीडब्ल्यूई से की थी लेकिन फिलहाल वह डब्ल्यूडब्ल्यूई जॉइन कर चुकी हैं और इस समय अमेरिकी पेशेवर महिला पहलवान के तौर पर जानी जाती हैं। बीबीसी ने इनका इंटरव्यू भी किया था।

फेक मैसेज के सबूत

जानकार लोग बताते हैं कि कोई मैसेज फेक या फर्जी है इसकी पहली और आसान पहचान यह है कि इसकी भाषा पर गौर करें, उसमें ढेरों गलतियां होंगी। वायरल होने वाले मैसेज में भी वर्तनी या स्पेलिंग की काफी गल्तियां हैं, तथ्य तो गलत हैं हीं। इसके अलावा इसमें जो भी दावा किया जाता है उसका कोई सबूत नहीं दिया जाता। तीसरा, सबसे बड़ा सबूत यह है कि इंटरनेट पर इसे खोजने बैठेंगे तो दूसरी ही जानकारी मिलेगी। इन तीनों कसौटियों पर कसने के बाद पता चलता है कि यह कतई फर्जी मैसेज है। इसलिए पाकिस्तान-हिंदुस्तान और हिंदू-मुस्लिम के नाम पर नफरत फैलाने वालों की साजिश में मत फंसिएगा।

फेक मैसेज फैलाने वाले फेकुओं से बचाने आ रहा है गांव कनेक्शन

ये फेक मैसेज फैलाने की बीमारी किसी डेंगू या चिकनगुनिया से कम नहीं है। पिछले कुछ महीनों में ऐसे ही फर्जी संदेशों और विडियोज ने लोगों में नफरत और डर का ऐसा माहौल फैलाया है कि कई बेकसूर लोगों को पीट-पीट कर मार डाला गया। ऐसे में आपका दोस्त गांव कनेक्शन और फेसबुक ला रहे हैं "मोबाइल चौपाल" जहां पर आपको सोशल मीडिया के इस्तेमाल की तमाम ज़रूरी बातों सहित बताया जाएगा कि फर्जी खबरों से कैसे बच कर रहें।

यह भी देखें: गाँव कनेक्शन और फेसबुक लाए हैं 'मोबाइल चौपाल... झरोखा अपने भारत का

Share it
Share it
Share it
Top