गुड़गांव के हाई फाई डे-केयर में 9 माह की बच्ची के साथ घटी दर्दनाक घटना

गुड़गांव के हाई फाई डे-केयर में 9 माह की बच्ची के साथ घटी दर्दनाक घटनागुड़गांव के प्रतिष्ठित इंटेलीट्स डे-केयर की घटना बताई जा रही

लखनऊ। मेट्रो सिटी में रहने वाले वर्किंग पैरंट्स के लिए ये खबर परेशान और हैरान करने वाली है। जो पैरंट्स अपने नवजात बच्चों की देखभाल के लिए डे-केयर में छोड़कर जाते हैं, इसे पढ़कर वो सकते में आ जाएंगे।

मामला गुड़गांव का है जहां एक फेमस डे-केयर ऑर्गनाइजेशन में एक अभिभावक अपनी नौ महीने की बच्ची को छोड़कर ड्यूटी पर गए थे। वापस आए तो देखा उनकी बच्ची की एक उंगली कट गई है और उससे लगातार खून बह रहा है। अपनी नन्ही जान को बेहताशा दर्द से रोते हुए देखकर उन दोनों के भी आंसू झलक गए।

फेसबुक पर घटना का जिक्र

घटना के बाद डे-केयर की लापरवाही का जिक्र करते हुए बच्ची की मां भावना रस्तोगी ने फेसबुक पर एक पोस्ट लिखा-

मैं 19 मई को हुए गुड़गांव के प्रसिद्ध फोर्टिस मेमोरियल इंस्टीट्यूट के इंटेलीट्स डे-केयर सेंटर के साथ एक दर्दनाक अनुभव शेयर करना चाहती हूं। मैं ये पोस्ट लिख रही हूं जिसमें मेरी नौ महीने की बेटी अस्पताल के बेड पर लेटी हुई है। उसके बाएं हाथ का अंगूठा कटा हुआ है और बिस्तर पर खून बिखरा हुआ है। इसकी वजह इंटेलीट्स की मेड है जिसने डायपर बदलते समय लापरवाही से बाथरूम का दरवाजा बंद कर दिया, और मेरी बेटी का अंगूठा उसमें फंसकर आधा कट गया।

ये भी पढ़ें: शर्मनाक : चोरी के आरोप में दो बच्चों के सिर मुंडवाए, चप्पलों की माला पहनाई और रोने पर थप्पड़ों से मारा

कोई कल्पना भी नहीं कर सकता कि उसकी खून से सनी कटी उंगली और दर्द से कराहते हुए उसकी चीख को। ये एक भयानक सपने जैसा है जो कभी किसी अभिभावक और उसके बच्चे पर न बीते, फिलहाल हम इसी नर्क से गुजर रहे हैं।

दो महीने पहले ही उन्होंने अपने बच्ची का ख्याल रखने के लिए एडमिशन करवाया था क्योंकि इस डे-केयर संस्थान ने पूरा विश्वास दिलाया था कि बच्चों का ख्याल रखने के लिए यहां खास इंतजाम है। बच्चा वहां पर पूरी तरह से महफूज है इसलिए मैंने अपनी बेटी को वहां रखने का निर्णय किया।

19 मई को ही मेदांता में मेजर सर्जरी हुई और हमें नहीं पता कि क्या होगा। गुरुवार को फिर से सर्जरी के लिए बुलाया जाएगा। छह हफ्ते तक हर हफ्ते में दो बार यह सर्जरी होगी।

अब डेकेयर की लापरवाही देखिए जब हमने उनके फाउंडर से सीसीटीवी फुटेज की मांग की, तो आप पढ़िए उन्होंने क्या जवाब दिया-

-जब यह घटना घटी तो सीसीटीवी का प्लग अचानक हट गया इस वजह से इसकी कोई फुटेज उपलब्ध नहीं है। वे जानबूझकर हमसे छिपा रहे हैं।

-उस मेड के साथ इस तरह की पहले कोई घटना सामने नहीं आई है तो हमें नहीं पता कि यह सबकुछ कैसे हुआ।

पैसा बनाने वाले सेंटर्स का काला सच सामने लाने की जरूरत

इस तरह के जवाब से ये साफ है कि उस अशिक्षित मेड के ऊपर कोई सुपरवाइजर नहीं था जिस वजह से ये घटना हुई और अब मेरी बेटी को इसे जीवन भर के लिए भोगना होगा। साथ ही ये भी साफ है कि सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध नहीं है यह कहकर हमसे तथ्य छिपाए जा रहे हैं जिन्हें जानना हमारा हक है। हमें इस तरह के पैसा बनाने वाले सेंटर्स का काला सच सामने लाने की जरूरत है। ये वाकई दिल चीर कर रख देने जैसा है अपनी बेटी को इस तरह के दर्द झेलते हुए देखना।

महाराष्ट्र में बच्चों के साथ भीड़ ने किया ऐसा सलूक, वीडियो देखकर मन में नफरत भर जाएगी

Share it
Share it
Share it
Top