स्कूल जिम्मेदारी निभाता तो आज जिंदा होता प्रद्युम्न : सीबीएसई

स्कूल जिम्मेदारी निभाता तो आज जिंदा होता प्रद्युम्न : सीबीएसईरायन इंटरनेशनल स्कूल

नई दिल्ली/गुड़गांव। प्रद्युम्न हत्याकांड में सीबीएसई ने गुड़गांव के रायन इंटरनेशनल स्कूल को मान्यता रद्द करने का नोटिस जारी किया है। सीबीएसई ने कहा कि अगर स्कूल ने अपनी ड्यूटी जिम्मेदारी के साथ निभाई होती तो प्रद्युम्न की मौत टाली जा सकती थी। छात्रों की सुरक्षा के लिए बोर्ड ने तय सुरक्षा के मूलभूत उपाय लागू करने में भी स्कूल नाकाम रहा। नोटिस में कहा गया है कि पूरे घटनाक्रम को देखें तो स्कूल गंभीर लापरवाही का दोषी है।

ये भी पढ़ें:- प्रद्युम्न हत्याकांड के बाद यूपी पुलिस नें उठाया बड़ा कदम, स्कूलों के लिए जारी किये ये नियम

स्कूल प्रशासन से 15 दिन में जवाब मांगा गया है कि सुरक्षा संबंधी नियम जानबूझकर तोड़ने पर क्यों उसकी प्रोविजनल मान्यता रद्द कर दी जाए। सीबीएसई की दो सदस्यीय फैक्ट फाइंडिंग कमेटी ने पिछले हफ्ते स्कूल का दौरा किया था। इसने शुक्रवार शाम ही रिपोर्ट सौंपी थी। इसी बीच, गुड़गांव के डीसी विनय प्रताप सिंह ने कहा कि सोमवार से स्कूल दोबारा खोलने का प्रयास किया जाएगा। प्रद्युम्न की हत्या के बाद 9 दिन से स्कूल बंद है।

चौंकाने वाले सामने आए तथ्य

  • स्कूल में ड्राइवर, कंडक्टर और क्लीनर्स के लिए अलग टॉयलेट नहीं थे। वह छात्रों और स्टाफ वाले टॉयलेट ही इस्तेमाल करते थे।
  • स्कूल में सीसीटीवी कैमरे बहुतकम संख्या में थे। जो लगे थे, वह भी काम नहीं कर रहे थे।
  • स्कूल की चारदीवारी पूरी नहीं है। कई जगहों पर दीवार के बजाय सिर्फ कांटेदार तार से ही काम चलाया गया है।
  • हत्या के बाद एफआईआर दर्ज करवानेऔर डीईओ सीबीएसई को सूचना देने में भी स्कूल फेल रहा। प्रद्युम्न के पिता ने ही रिपोर्ट दर्ज करवाई।
  • पांच मंजिला इमारत की तीन मंजिलों पर पढ़ाई होती थी। खाली पड़े कमरे और छत भी लॉक नहीं थीं। स्टूडेंट्स यहां आते-जाते रहते थे।

ये भी पढ़ें- नर्मदा के बढ़ते जलस्तर से लोग परेशान फिर भी नहीं छोड़ रहे घर, हर चेहरे पर है मायूसी

जांच रिपोर्ट फाइनल करने जुटी पुलिस

  • गुड़गांव पुलिस हत्याकांड की जांच रिपोर्ट फाइनल करने में जुटी है। सीबीआई जांच के आदेश के चलते पुलिस अब चार्जशीट पेश नहीं करेगी।
  • पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार ने कहा कि काफी हद तक जांच पूरी हो चुकी है। संभावना है कि सोमवार तक गृह मंत्रालय सीबीआई जांच के आदेश जारी कर दे।
  • इसी बीच, रेयान ग्रुप के नार्थ जोन के मैनेजर फ्रांसिस थॅामस को सोहना अदालत ने भोंडसी जेल भेज दिया। उसके साथ गिरफ्तार एचआर हेड जीयूस थॉमस को पहले ही जेल भेजा जा चुका है।
  • शुक्रवार को रेयान स्कूल के ट्रस्टी पिंटो, उसकी पत्नी ग्रेस और पुत्र रेयान ने हरियाणा एवं पंजाब हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी। इस पर सोमवार को सुनवाई होगी।

ये भी पढ़ें- सरदार सरोवर : उन्हें तरस नहीं आ रहा हजारों बस्तियां डुबाने में !

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top