10वीं की परीक्षा में प्रश्नों की संख्या कम कर सकता है CBSE

यह बदलाव सिर्फ दसवीं की प्रश्न पत्रों में किए जाएंगे। बारहवीं के प्रश्न पत्रों में कोई बदलाव नहीं होगा।

10वीं की परीक्षा में प्रश्नों की संख्या कम कर सकता है CBSE

लखनऊ। केंद्रीय माध्यमिक परीक्षा बोर्ड (CBSE) 10वीं की परीक्षा में वस्तुनिष्ठ (सब्जेक्टिव) प्रश्नों की संख्या को कम कर सकता है। सीबीएसई वस्तुनिष्ठ प्रश्नों की संख्या को घटाकर इसके स्वरूप में बदलाव लाने की सोच रहा है।

सीबीएसई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, "यह बदलाव परीक्षा से पहले नियमित समीक्षा बदलाव का हिस्सा है। सीबीएसई रटकर पढ़ने की प्रवृत्ति की बजाय छात्रों में रचनात्मक लेखन की प्रवृत्ति बढ़ाने पर विचार कर रहा है। बदलाव हो जाने पर नमूना प्रश्नपत्र जारी किए जाएंगे ताकि छात्र प्रश्नपत्र के स्वरूप से परिचित हो सकें और परीक्षा से पहले इनका अभ्यास कर सकें।"

बोर्ड के विशेषज्ञ बड़े प्रश्नों को कम करने के साथ प्रत्येक प्रश्न का अंक बढ़ाने पर पर भी विचार कर रहे हैं। अधिकारी ने कहा कि प्रश्नपत्र में कोई बड़ा फेरबदल नहीं होगा बल्कि मामूली बदलाव किए जाएंगे। उन्होंने छात्रों को आश्वस्त किया कि इस बारे में उन्हें चिंतित होने की जरूरत नहीं है। यह बदलाव सिर्फ दसवीं की प्रश्न पत्रों में किए जाएंगे, वहीं बारहवीं के प्रश्न पत्रों में कोई बदलाव नहीं होगा।

(भाषा से इनपुट)

पढ़ें- CBSE दसवीं का परिणाम घोषित, 500 मेंं से 499 अंक पाकर कुल 13 परीक्षार्थियों ने किया टॉप



More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top