सुंदर और स्वस्थ बच्चे के लिए मोदी सरकार ने इन तीन चीजों से दूर रहने की दी है सलाह

सुंदर और स्वस्थ बच्चे के लिए मोदी सरकार ने इन तीन चीजों से दूर रहने की दी है सलाहहर साल भारत में 26 मिलियन यानी 2.6 करोड़ बच्चे पैदा होते हैं (फोटो साभार: इंटरनेट)

लखनऊ। स्वस्थ व सुंदर बच्चा कैसे हो इसके लिए केंद्र सरकार ने प्रेग्नेंट महिलाओं के लिए एडवाइजरी जारी की है। आयुष मंत्रालय के मुताबिक गर्भावस्था में महिलाओं को मांस, सेक्स और बुरे लोगों की संगत से दूर रहना चाहिए।

इसी के साथ स्वस्थ बच्चे के लिए धार्मिक विचारों को मन में लाने और कमरे में बच्चों की खूबसूरत फोटो लगाने की भी सलाह दी गई है।

हर साल भारत में 26 मिलियन यानी 2.6 करोड़ बच्चे पैदा होते हैं।

यह सिफारिशें सरकार द्वारा चलित केंद्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद् की मदर एंड चाइल्ड केयर किताब में जारी की गई है जिसे आयुष मंत्रालय के राज्य मंत्री श्रीपद नायक द्वारा जारी किया गया है।

शुभ दिनों में शारीरिक संबंध बनाने की सलाह दी गई थी

ये एडवाइजरी उस समय जारी की गई हैं जब कुछ दिन पहले दिल्ली के जामानगर के गर्भविज्ञान अनुसंधान केंद्र ने बच्चे प्लान करने वाले जोड़ों को ये सलाह दी थी कि शुद्धिकरण के जरिए स्वस्थ और सुंदर बच्चा होता है। यहां शुद्धिकरण का मतलब शुभ दिनों में शारीरिक संबंध बनाने से था।

मांस प्रोटीन और आयरन का अच्छा स्रोत

हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में अपोलो हेल्थकेयर ग्रुप के जीवन माला अस्पताल की स्त्रीरोग विशेषज्ञ डॉ. मालविका सबरवाल कहती हैं, ‘यह सलाह पूरी तरह अवैज्ञानिक है। शरीर में प्रोटीन की कमी से बच्चे को कुपोषण हो सकता है और आयरन की कमी से मां अनीमिया रोग से पीड़ित हो सकती है जबकि मांस, प्रोटीन और आयरन दोनों का अच्छा स्रोत है।’

वहीं गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध बनाने के मामले में डॉक्टर कहती हैं कि अगर प्रेग्नेंसी नॉर्मल है तो इससे परहेज करने की जरूरत नहीं। जहां तक बात कोख में बच्चे की है तो वह गर्भाशय की मांसपेशियों और एम्नॉयटिक फ्लूइड के बीच सुरक्षित है।

Share it
Share it
Share it
Top