चंडीगढ़ छेड़छाड़ केस में पुलिस के हाथ लगी CCTV फुटेज

चंडीगढ़ छेड़छाड़ केस में पुलिस के हाथ लगी CCTV फुटेजसीसीटीवी फुटेज में लड़की की काले रंग की गाड़ी का पीछा करती बराल की सफेद रंग की गाड़ी

चंडीगढ़। चंडीगढ़ छेड़खानी केस में पुलिस को जो सीसीटीवी फुटेज मिली है, उसमें बीजेपी नेता सुभाष बराला का बेटा विकास बराला पीड़िता का पीछा करते हुए नजर आ रहा है। सीसीटीवी फुटेज में साफ देखा जा सकता है कि पीड़िता की काले रंग की गाड़ी का पीछा एक सफेद रंग की गाड़ी कर रही है। सफ़ेद रंग की गाड़ी में अपने दोस्त के साथ विकास बराला था।

चंडीगढ़ पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ''चंडीगढ़ पुलिस ने उस मार्ग पर पांच सीसीटीवी की फुटेज फिर से प्राप्त कर ली है जिस पर कथित गाड़ी से पीड़िता की कार का पीछा किया गया।'' केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एश सिंघल ने कल कहा था कि पुलिस ने उस रास्ते की सीसीटीवी फुटेज हासिल कर रही है जहां आरोपियों ने कथित तौर पर पीड़िता का पीछा किया।

सेक्टर सात और 26 रोड की है फुटेज

ये सीसीटीवी फुटेज सेक्टर 7 और 26 की रोड की हैं। पुलिस को ये फुटेज आस-पास की बिल्डिंग और दुकानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों से मिली है। माना जा रहा है कि विकास पर और चार्ज लग सकते हैं। हालांकि अभी पुलिस ने ये साफ नहीं किया है कि नए सुराग मिलने के बाद वो केस में क्या नई धाराएं जोड़ेगी।

क्या है पूरा मामला

विकास बराला और आशीष कुमार ने सीनियर आईएएस की बेटी की कार का पीछा किया था। उन्होंने लड़की के कार का दरवाज़ा भी खोलने की कोशिश की। लड़की के कई बार फोन करने पर पुलिस वहां पहुंची और दोनों लड़कों को गिरफ़्तार कर लिया। लड़की की शिकायत पर मामला भी दर्ज हुआ।

हालांकि गिरफ्तारी के अगले ही दिन आशीष बराला को जमानत मिल गई। आरोप है कि ऐसा उसके ऊपर हलके चार्ज लगाने की वजह से हुआ। गिरफ्तारी के वक्त जांच में पाया गया था कि आशीष बराला ने शराब पी रखी थी। पीड़ित ने इस पूरे वाकये को फेसबुक पर बयां किया था, हालांकि कांग्रेस समेत विपक्ष का आरोप है कि आशीष को पुलिस पर दबाव डालकर बचाया गया।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top