देखें 'चंद्रयान 2' की पहली झलक, 15 जुलाई को होगा लॉन्‍च

देखें

लखनऊ। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो 15 जुलाई की सुबह 2.51 बजे चंद्रयान-2 को लॉन्च करेगा। बुधवार को इसरो चेयरमैन डॉ. के सिवन ने इस बात की जानकारी दी। उन्‍होंने कहा, ''चंद्रयान 2 का वज़न 3.8 टन है। हमारे लिए इस मिशन का सबसे कठिन हिस्सा है चंद्रमा की सचंद्रयान-2 की लॉन्चिंग 15 जुलाई को, 60 दिनों की यात्रा, आखिरी 15 मिनट रोकेंगी सांसेंतह पर सफल और सुरक्षित लैंडिंग कराना। चंद्रयान 2 चंद्रमा के ऐसे हिस्से पर पहुंचेगा, जहां आज तक किसी अभियान में नहीं जाया गया।''

भारत चंद्रमा के धुर दक्षिणी हिस्से पर पहुंचने जा रहा है, जहां पहुंचने की कोशिश आज तक कभी किसी देश ने नहीं की है। चंद्रयान-2 पूरी तरह स्वदेशी अभियान है। चंद्रयान-2 इसरो के सबसे ताकतवर रॉकेट जीएसएलवी मार्क-3 से पृथ्वी की कक्षा के बाहर छोड़ा जाएगा।

लॉन्च के बाद 6 सितंबर को चंद्रयान-2 की चांद के दक्षिणी ध्रुव के पास लैंडिंग होगी। इसके बाद रोवर को लैंडर से बाहर निकलने में 4 घंटे लगेंगे। रोवर चांद पर करीब 15 से 20 दिनों तक रहेगा।

रोवर चांद की सतह से डाटा जमा करके लैंडर के जरिए ऑर्बिटर तक पहुंचाता रहेगा। ऑर्बिटर फिर उस डाटा को इसरो भेजेगा। चंद्रयान 2 में एक ऑरबिटर, 'विक्रम' नामक एक लैंडर तथा 'प्रज्ञान' नामक एक रोवर शामिल है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top