छत्तीसगढ़ के 20,000 गाँवों में मनाया गया ‘स्वच्छ भारत दिवस’     

छत्तीसगढ़ के 20,000 गाँवों में मनाया गया ‘स्वच्छ भारत दिवस’     प्रधानमंत्री का स्वच्छ भारत मिशन का सपना फिलहाल जिले में साकार होता नहीं दिख रहा है।

रायपुर (भाषा)। राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान के तहत छत्तीसगढ़ की सभी 10,971 ग्राम पंचायतों के 20,000 गांवों में 'स्वच्छ भारत दिवस' मनाया गया।

अधिकारियों ने बताया, इस अवसर पर श्रमदान कर सार्वजनिक और धार्मिक स्थलों की साफ-सफाई की गई। ग्राम पंचायतों में आयोजित ग्राम सभाओं में स्वच्छता पर चर्चा की गई। साथ ही स्वच्छता मतदान और रात्रि चौपालों जैसे कार्यक्रमों का भी आयोजन किया गया। स्कूलों में भी बच्चों के लिए स्वच्छता पर विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया।

यह भी पढ़ें- स्वच्छ भारत की रैंकिंग में छत्तीसगढ़ के 8 शहर

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के संचालक तारण प्रकाश सिंहा ने बताया, "खुले में शौचमुक्त हो चुके समुदायों के स्थायित्व को बनाए रखने और सम्पूर्ण स्वच्छता के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए गाँवों के साथ-साथ ग्राम पंचायत, विकासखण्ड और जिला स्तर पर अनेक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

जिला और विकासखण्ड स्तर पर स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अंतर्गत उत्कृष्ट कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों, स्वच्छता चैम्पियनों, अधिकारियों-कर्मचारियों और नागरिकों को सम्मानित किया गया। जनजागरुकता के लिए मोटरसाइकिल रैली, साइकिल रैली और स्वच्छता रथ निकाले गए तथा मानव श्रृंखला बनाई गई। विकासखण्डों में ओडीएफ स्थायित्व कार्यशाला का आयोजन किया गया और जिला और विकासखण्ड स्तर पर ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन पर कार्यशालाओं का आयोजन भी किया गया।

सिन्हा ने बताया, "प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले स्वच्छ भारत मिशन के शुरू होने के लगभग साढ़े तीन वर्ष के भीतर छत्तीसगढ़ की 10,971 ग्राम पंचायतों में से 10,725 ग्राम पंचायतें खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) होने की स्थिति में आ चुकी हैं।"

यह भी पढ़ें- स्वच्छ भारत मिशन : इस लड़के का किया छोटा सा काम लोगों के लिए है एक मिसाल

Share it
Share it
Share it
Top