जवानों को शहीद कर उनके शवों के साथ बर्बरता किए जाने से आहत बच्चों ने प्रधानमंत्री को भेजी एक किलोमीटर लंबी चिठ्ठी

जवानों को शहीद कर उनके शवों के साथ बर्बरता किए जाने से आहत बच्चों ने प्रधानमंत्री को भेजी एक किलोमीटर लंबी चिठ्ठीबच्चों ने प्रधानमंत्री को भेजी एक किलोमीटर लंबी चिठ्ठी।

मुरादाबाद (आईएएनएस/आईपीएन)। जम्मू एवं कश्मीर में एलओसी के नजदीक पाकिस्तानी सेना द्वारा हमारे देश के जवानों को शहीद कर उनके शवों के साथ बर्बरता किए जाने से आहत यहां के बच्चों ने एक किलोमीटर लंबी चिठ्ठी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखकर भेजी है और पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने को कहा है।

पाकिस्तान के कायरता भरे हमले में देश के दो जवान नायब सूबेदार परमजीत सिंह और बीएसएफ के हेड कांस्टेबल प्रेम सागर शहीद हो गए। शहीद हुए देश के वीर सैनिकों को मंगलवार को आरएसडी एकेडमी के छात्रों ने श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

छात्रों ने पाकिस्तान को मुहतोड़ जवाब देने का अनुरोध करते हुए एक किलोमीटर लंबी चिठ्ठी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखकर भेजी है। चिट्ठी में कहा गया है कि प्रधानमंत्री मोदी को इस मामले में कड़ा कदम उठाना चाहिए। पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए, जिससे दुबारा वह इस तरह की हरकत न कर सके।

आगे लिखा गया है कि सरकार को इसका बदला लेना चाहिए। एक सिर के बदले 10 सिर पाकिस्तानी सेना के वापस लाने चाहिए। चिठ्ठी में कहा गया कि सरकार को इस ओर सख्त और बेहद कड़ा कदम उठाने की जरूरत है। छात्रों ने लिखा, ''हमें अपने देश के वीर जवानों की कुर्बानी व्यर्थ नहीं जाने देना चाहिए। कब तक हमारे देश के वीर जवान सीमा पर अपनी जान गवाते रहेंगे। हमें पाक के इस हमले को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।''

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top