लखनऊ में खुलेगा उर्दू यूनिवर्सिटी का कैंपस , सीएम योगी ने किया वादा 

लखनऊ में खुलेगा उर्दू यूनिवर्सिटी का कैंपस , सीएम योगी ने किया वादा उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ।

लखनऊ। मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी के कुलपति, जफर सरेशवाला की उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से पिछले सप्ताह हुई मुलाक़ात के बाद इसके लखनऊ कैंपस के लिए जल्द ही जमीन मिलने की अटकलें तेज़ हो गई हैं। बताया जा रहा की ज़फर सरेशवाला ने विश्वविद्यालय का यूपी में कैंपस शुरू करने के लिए जगह उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री ने इसका सकारात्मक जवाब दिया है।

जानकारों के अनुसार इस प्रीमियर सेंट्रल उर्दू यूनिवर्सिटी के समूचे देश में 11 कैंपस हैं, लेकिन यूपी में फिलहाल कोई कैंपस नहीं खुल पाया है। कुलपति सरेशवाला एक बड़े व्यवसायी के रूप में भी प्रतिष्ठित हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कट्टर समर्थक भी बताये जाते हैं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उर्दू को बढ़ावा देने के लिए इन्हे 1998 में स्थापित किए गए मौलाना आजाद नेशनल उर्दू यूनिवर्सिटी के कुलपति के तौर पर 2015 में की नियुक्ति की गई थी। मुलाकात के बाद सरेशवाला ने मीडिया को बताया था कि राज्य के मदरसों के आधुनिकीकरण समेत उत्तर प्रदेश मदरसा तालीमी बोर्ड को मजबूती प्रदान करवाने के बारे में सीएम से चर्चा हुई। यूपी में 48,000 हजार मदरसे हैं, लेकिन कई प्रयासों के बाद भी इनकी जमीनी हकीकत नहीं बदली है।

आपको बता दें कि सीएम ने मई के तीसरे सप्ताह में आयोजित होने वाले तालिम-ओ-तरबियत कार्यक्रम में मुख्य वक्ता होने पर भी अपनी सहमती दी है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top