देश को मिली दो नई वैक्सीन: कोर्बेवैक्स-कोवोवैक्स, साथ ही एंटी-वायरल ड्रग मोलनुपिराविर के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

स्वास्थ्य मंत्रालय ने सीरम इंस्टीच्यूट ऑफ इंडिया की कोवोवैक्स, बायोलॉजिकल ई की वैक्सीन कोरबेवैक्स और कोविड-19 के खिलाफ लड़ने वाली एंटी-वायरल ड्रग Molnupiravir के आपातकालीन इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है।

देश को मिली दो नई वैक्सीन: कोर्बेवैक्स-कोवोवैक्स, साथ ही एंटी-वायरल ड्रग मोलनुपिराविर के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी

देश में बढ़ते ओमिक्रॉन के संक्रमण के बीच स्वास्थ्य मंत्रालय ने नई वैक्सीन और एक एंटीवायरल ड्रग के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है।

स्वाथ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इस फैसले पर देश को बधाई दी है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने दो वैक्सीन कोर्बेवैक्स, कोवोवैक्स और एंटी-वायरल ड्रग मोलनुपिराविर के इमरजेंसी यूज की मंजूरी दी है।

CORBEVAX वैक्सीन भारत का पहला स्वदेशी रूप से विकसित RBD प्रोटीन सब-यूनिट वैक्सीन है। इसे हैदराबाद स्थित फर्म बायोलॉजिकल-ई द्वारा बनाया गया।

नैनोपार्टिकल वैक्सीन, COVOVAX, का निर्माण पुणे स्थित फर्म सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा किया जाएगा।

भारत में वर्तमान में कोविड-19 के 75,456 सक्रिय मामले हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान 6,450 रोगी स्वस्थ हुए, देश भर में अभी तक कुल 3,42,43,945 मरीज स्वस्थ हुए। जबकि बीते चौबीस घंटे के दौरान 6,358 नए मामले सामने आए हैं।

देश में इस समय ओमिक्रॉन संक्रमण के 653 मामले आए हैं, जिसमें से सबसे अधिक महाराष्ट्र में 167 मामले और दूसर नंबर पर दिल्ली है जहां पर 165 मामले सामने आए हैं।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.