Top

कोरोना : मजदूरों और गरीबों के लिए मदद की अपील पर दिल्ली के सैकड़ों मकान मालिकों ने कहा, हम नहीं लेंगे किराया

कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन के ऐलान के बाद रोज कमाकर अपना पेट भरने वाले मजदूरों और गरीबों के लिए भूखों मरने जैसी स्थिति पैदा हो गयी है।

Kushal MishraKushal Mishra   26 March 2020 8:07 AM GMT

कोरोना : मजदूरों और गरीबों के लिए मदद की अपील पर दिल्ली के सैकड़ों मकान मालिकों ने कहा, हम नहीं लेंगे किरायालॉकडाउन की स्थिति में गरीबों और मजदूरों की घर बैठे मदद कर रहे दिल्ली के लोग । फोटो साभार : ट्विटर

कोरोना वायरस की महामारी से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन के ऐलान के बाद रोज कमाकर अपना पेट भरने वाले मजदूरों और गरीबों के लिए भूखों मरने जैसी स्थिति पैदा हो गयी है। ऐसे समय में दिल्ली के लोग मजदूरों और गरीबों की मदद के लिए आगे बढ़कर सामने आ रहे हैं।

नई दिल्ली में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ऐसे समय में पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को 5,000-5,000 रुपये देने की घोषणा की है और मकान मालिकों से अपील की है कि लॉकडाउन के दौरान ऐसे गरीब और बेसहारा किरायदारों से समय पर किराया वसूलने की बजाए कुछ समय बाद किश्तों में किराया ले लें।

इस अपील के बाद मजदूरों और गरीबों की मदद के लिए सैकड़ों लोग आगे बढ़कर सामने आ रहे हैं। कई लोगों ने न सिर्फ पूरा किराया माफ करने का वादा किया, बल्कि ऐसे गरीबों को भोजन उपलब्ध करने की जिम्मेदारी उठा रहे हैं।

घर बैठे ऐसे कर रहे मदद











दिल्ली सरकार गरीबों और बेघरों के लिए सभी शेल्टर होम में दिन और रात के भोजन का प्रबंध कर रही है ताकि कोई भी व्यक्ति बंदी की स्थिति में भूखे पेट न रहे। इसके अलावा जनता से अपील की है कि घर में रहते हुए हम सभी को अपने-अपने स्तर पर लोगों की मदद करने की जरूरत है।

लोगों की देशभक्ति को किया सलाम

लोगों से मिल रही प्रतिक्रिया को देखते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों की देशभक्ति को सलाम किया और लोगों से अपील की कि जो व्यक्ति Delhi CM Relief Fund में आप अपना योगदान दे सकते हैं, वे सरकार की मदद करें। इस अपील के बाद बड़ी संख्या में दिल्ली के लोग सरकार की मदद के लिए सामने आ रहे हैं।




यह भी पढ़ें :

कोरोना : लॉकडाउन से दूसरे राज्यों में फंसे मजदूर कैसे भरेंगे अपना पेट ?

आइए इन्हें शुक्रिया कहते हैं, जिनकी वजह से हम घरों में सुरक्षित हैं

काम की खबर: 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान क्या खुला रहेगा, क्या बंद रहेगा, पूरी लिस्ट देख लीजिए


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.