Top

जानिए क्या है कोरोना वायरस और इसके लक्षण, बरतें ये सावधानी

चीन में 100 से ज्यादा लोगों की जान लेने वाला वायरस अन्य देशों के लिए भी खतरा बनता जा रहा है। कोरोना वायरस की भारत में भी दस्तक देने की आशंका जताई जा रही है

Chandrakant MishraChandrakant Mishra   29 Jan 2020 5:43 AM GMT

चीन से फैला कोरोना वायरस अब अन्य देशों के लिए भी खतरा बनता जा रहा है। इस वायरस से चीन में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 800 से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में हैं। ऐसे में पड़ोसी देश होने के नाते भारत में इसे लेकर सावधानी बरत रहा है।

यूपी और बिहार में चार संदिग्ध मरीज पाए गए हैं, ये सभी हाल में ही चीन से लौटे हैं। भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने दिल्ली, मुंबई व कोलकाता हवाई अड्डों पर चीन से आने वाले अंतर्राष्ट्रीय पर्यटकों की एहतियातन थर्मल स्कैनर के जरिए जांच करने के निर्देश दिए हैं।

पटेल चेस्ट इंस्टिट्यूट, नई दिल्ली के पूर्व निदेशक प्रो. राजेंद्र प्रसाद बताते हैं, "कोराना वायरस विषाणुओं का एक बड़ा समूह है जो इंसानों में सामान्य जुकाम से लेकर श्वसन तंत्र की गंभीर समस्या तक पैदा कर सकता है। इस वायरस का नाम इसके बनावट के आधार पर दिया गया है। ये वायरस जानवरों और इंसान दोनों को एक साथ संक्रमित कर सकता है। कुछ शोध में यह पता चला है कि यह वायरस सांपों के जरिए इंसान में पहुंचा है।"

कोरोना वायरस इंफेक्शन के लक्षण
तेज बुखार
सिर में तेज दर्द
खांसी और कफ
गला में खराब
नाक का बहना
निमोनिया
थकान महसूस होना
सांस लेने में परेशानी

कोरोना वायरस के मरीजों में जुकाम, खांसी, गले में दर्द, सांस लेने में दिक्कत, बुखार जैसे शुरुआती लक्षण देखे जाते हैं। इसके बाद ये लक्षण निमोनिया में बदल जाते हैं और किडनी को नुकसान पहुंचाते हैं। फेफड़े में गंभीर किस्म का संक्रमण हो जाता है।

दुनियाभर के स्वास्थ्य अधिकारी इस वायरस से सतर्कता बरतने की सलाह दे रहे हैं, लेकिन यह वायरस कितना खतरनाक है इसके बारे में सटीक जानकारी अब तक नहीं मिल पायी है। जेनेवा में गुरुवार को हुई विश्व स्वास्थ्य संगठन बैठक के बाद डब्ल्यूएचओ ने कहा कि अभी भी वायरस की स्थिति विकसित हो रही है। वायरस फैलने का ठोस कारण फिलहाल स्पष्ट नहीं है लेकिन डब्लूएचओ की प्राथमिक जांच इस वायरस को समुद्री खाद्य बाजार से जोड़ती है।

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के उपाय
- सांस से जुड़ी बीमारी के लक्षण किसी में दिखें तो उससे दूर रहें
- जिन देशों में इस बीमारी का प्रकोप है वहां यात्रा करने से बचें
- हाथों को अच्छी तरह से धोएं और हाथों की सफाई का पूरा ध्यान रखें
- खांसी या छींकते वक्त मुंह और नाक को अच्छी तरह से ढंककर रखें
- अपने हाथ और उंगलियों से आंख, नाक और मुंह को बार-बार न छूएं
- सार्वजनिक स्थान, बस या ट्रेन में कुछ भी छूने या किसी से हाथ मिलाने से बचें

चीन में मेडिकल की पढ़ाई करने वाला उत्तर प्रदेश के जनपद महरागंज निवासी एक छात्र वापस अपने शहर लौटा है। मेडिकल जांच में छात्र के अंदर संदिग्ध वायरस मिलने की बात की जा रही है। कोरोना के प्रभाव को देखते हुए यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी जिला अस्पतालों और मेडिकल कॉलेजों में 10 बेड के आइसोलेशन वार्ड बनाने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने नेपाल सीमा और हवाई अड्डों पर खास नजर रखने को कभी कहा है। स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए वाराणसी और लखनऊ के हवाई अड्डों को अलर्ट कर दिया है। नेपाल सीमा से सटे उत्तर प्रदेश के सात जिलों में भी खास स्क्रीनिंग के इंतजाम किए हैं।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.