Top

भारत की पंचायतों में कोरोना को लेकर क्‍या तैयारियां हैं?

Ranvijay SinghRanvijay Singh   27 March 2020 1:08 PM GMT

भारत की पंचायतों में कोरोना को लेकर क्‍या तैयारियां हैं?

कोरोना वायरस से बचाव को लेकर पूरे देश में काम हो रहा है। इसी कड़ी में भारत की पंचायतों में भी इस वायरस से बचाव के उपाय किए जा रहे हैं। कहीं गांव को सेनेटाइज किया जा रहा है तो कहीं लोगों को सोशल डिस्‍टेंसिंग के बारे में जानकारी दी जा रही है। देखें भारत की पंचायतों में क्‍या कुछ हो रहा है।

राजस्‍थान के भीलवाड़ा की देवरिया पंचायत में गांव को सेनेटाइज करने का काम किया जा रहा है। इसी कड़ी में देवरिया पंचायत की सरपंच किस्‍मत गुर्जर का एक वीडियो भी सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है, ज‍िसमें वो गांव को सेनेटाइज करने के लिए एक कैमिकल छ‍िड़कते दिख रही हैं। इस वीडियो को केंद्र सरकार के कई मंत्रियों ने ट्वीट करते हुए लिखा कि किस्‍मत गुर्जर कोरोना योद्धा हैं। आप भी देखें ये वीडियो -

किस्‍मत गुर्जर बताती हैं, 'हम लोगों में मास्‍क बांट रहे हैं। साथ ही उन्‍हें सोशल डिस्‍टेंसिंग के बारे में जानकारी दे रहे हैं। लॉकडाउन में लोग घर में रहे इस बारे में भी बताया गया था। फिलहाल इस वायरस से अपने लोगों को बचाना ही मेरी प्राथमिकता है, उस दिशा में मैं काम कर रही हूं।'

ऐसे ही बिहार के सीतामढ़ी जिले की सिंहवाहिनी पंचायत की मुखिया रितू जायसवाल भी कोरोना से बचाव को लेकर लगातार काम कर रही हैं। लॉकडाउन में कोई घरों से बाहर न न‍िकले इसे लेकर वो गांव में अनाउंसमेंट से लेकर जो भी लोग हाल में बाहर से गांव में आए हैं उन्‍हें च‍िन्‍ह‍ित करने की कार्यवाही की गई है। सिंहवाहिनी पंचायत का यह वीडियो देख‍िए-

रितू जायसवाल बताती हैं, 'हम कोरोना से बचाव के हर प्रयास कर रहे हैं। इसमें सबसे जरूरी लोगों का जागरूक होना है, हम इसे लेकर काम कर रहे हैं। साथ ही बाहर से गांव आए लोगों को भी हमने चिन्‍हित किया है और उन्‍हें क्‍वारंटाइन में रहने की सलाह दी है। साथ ही पंचायत के आस-पास अगर कोई फंसा हुआ है तो हम उनकी भी मदद कर रहे हैं।'

बिहार के दूसरी पंचायतों में भी सोशल डिस्‍टेंसिंग को लेकर काम हो रहे हैं। पंचायत की मीटिंगों में भी लोग एक निश्‍चित दूरी पर बैठ रहे हैं। देखें यह ट्वीट -

भारत के केंद्र शास‍ित प्रदेशों में भी कोरोना को लेकर काम होते द‍िखता है। दादरा और नगर हवेली की जिला पंचायत में लोगों को जागरूक करने का काम किया जा रहा है। यहां की कई पंचायतों में राशन की दुकान के बाहर सोशल डिस्‍टेंसिंग के लिए एक-एक मीटिर की दूरी पर चूने से गोले बनाए गए हैं।

सोशल डिस्‍टेंसिंग को लेकर कर्नाटक की पंचायतों में भी काम किया गया है। कर्नाटक की गौरीबिदनापुर तालूका की कई पंचायतों में ऐसा देखने को मिल रहा है।

इसी तरह कर्नाटक की ही चिन्‍नामुलगुंदा ग्राम पंचायत में भी लोग सोशल डिस्‍टेंसिंग करते दिखते हैं। यहां की राशन की दुकान के बाहर की यह तस्‍वीर देख‍िए जहां लोग एक दूसरे से उचित दूरी बनाकर खड़े हैं।

इन तमाम तस्‍वीरों और वीडियो से एक बात तो साफ होती है कि भारत की ग्राम पंचायतों में भी कोरोना को लेकर लोगों के बीच जागरूकता है। वो सरकार के साथ मिलकर अपना सामाजिक दायित्‍व न‍िभाते हुए इस वायरस के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.