बड़ी खबर : वेंकैया नायडू देश के 15 वें उप -राष्ट्रपति बनें 

बड़ी खबर : वेंकैया नायडू देश के 15 वें उप -राष्ट्रपति बनें वेंकैया नायडू बने देश के उप राष्ट्रपति  

नई दिल्ली। लोकसभा में बहुमत वाले एनडीए की ओर से उम्मीदवार बनाए गये पूर्व केन्द्रीय मंत्री एम. वेंकैया नायडू का देश का अगला उपराष्ट्रपति चुने जाने का रास्ता लगभग साफ है। विपक्ष ने गोपाल कृष्ण गांधी को अपना संयुक्त उम्मीदवार बनाया है।

उपराष्ट्रपति पद के लिए आज होने जा रहे चुनाव में सत्तारूढ़ एनडीए के उम्मीदवार एम वेंकैया नायडू और यूपीए के उम्मीदवार गोपालकृष्ण गांधी के बीच मुकाबला है। इस चुनाव में नायडू का पलड़ा भारी होने के बीच संसद सदस्य मतदान के लिए तैयार हैं। चुनाव रिजल्ट शाम तक घोषित हो जाएगा।

ये भी पढ़ें-अगर आप यूपी में सांस लेते हैं तो ये ख़बर आपके लिए है

नायडू की जीत लगभग तय

उप राष्ट्रपति के चुनाव में बहुमत के लिए 394 वोट चाहिए। राज्यसभा में बीजेपी के पास बहुमत नहीं है, लेकिन लोकसभा में पूर्ण बहुमत है। लोकसभा में एनडीए के 338 सांसद हैं जो वेंकैया को वोट करेंगे।

इतना ही नहीं वेंकैया के समर्थन में AIADMK के 37 सांसद, YSR कांग्रेस के 9 , टीआरएस के 11 सांसद हैं। साथ ही 2 नॉमिनेटेड सांसद भी वेंकैया के समर्थन में हैं। कुल मिलाकर वेंकैया को लोकसभा में 397 सांसदों का समर्थन हासिल है।

राज्यसभा में एनडीए के 86 सांसद हैं जो वेंकैया को वोट करेंगे। इसके अलावा AIADMK के 13 सांसद, टीआरएस के तीन और YSR कांग्रेस का एक और INLD का एक सांसद वेंकैया के पक्ष में हैं। यानी राज्यसभा में वेंकैया को कुल 100 सांसदों का समर्थन हासिल है। इस तरह लोकसभा और राज्यसभा मिलाकर वेंकैया को 497 सांसदों का समर्थन हासिल है जो बहुमत के आंकड़े 394 से कहीं ज्यादा है।

जेडीयू करेगी विपक्ष के उम्मीदवार का समर्थन

राष्ट्रपति चुनाव के दौरान रामनाथ कोविंद की उम्मीदवारी का समर्थन करने वाले बीजद और जदयू ने उपराष्ट्रपति चुनाव में गांधी का समर्थन करने का फैसला किया है। हालांकि, जदयू ने बिहार में महागठबंधन का दामन छोड़ दिया है और बीजेपी के साथ मिलकर नयी सरकार बनायी है, लेकिन पार्टी ने उपराष्ट्रपति चुनाव में पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रह चुके गांधी के पक्ष में मतदान करने का अपना फैसला नहीं बदला है।

नीतीश कुमार

शाम सात बजे तक आ जाएंगे परिणाम

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने परंपराओं का हवाला देते हुए बताया कि मतदान के तुरंत बाद वोटों की गिनती होगी और शाम सात बजे तक परिणाम भी आ जाएंगे। इस चुनाव में राजनीतिक दल व्हिप जारी नहीं कर सकते हैं, क्योंकि वोट गोपनीय मतपत्र के माध्यम से डाले जाते हैं।

10 अगस्त को खत्म हो रहा है उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल

हामिद अंसारी।

मौजूदा उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी का कार्यकाल 10 अगस्त को खत्म हो रहा है। वह लगातार दो बार इस पद पर रह चुके हैं। राज्यसभा के पदेन सभापति और देश के उपराष्ट्रपति के चुनाव में मतदान का अधिकार संसद के दोनों सदनों के निर्वाचित और नामित सदस्यों को होता है।

लोकसभा-राज्यसभा में क्या है सीटों का आंकड़ा?

दोनों सदनों में सदस्यों की कुल संख्या 790 है, लेकिन वर्तमान में लोकसभा में दो और राज्यसभा में एक सीट रिक्त है। वहीं, लोकसभा सदस्य छेदी पासवान न्यायिक फैसले के कारण मतदान के लिए अयोग्य करार दिये गये हैं।

लोकसभा के कुल 545 सदस्यों में बीजेपी के 281 सांसद हैं, जबकि बीजेपी नीत एनडीए के कुल 338 सदस्य हैं। वहीं, 243 सदस्यीय राज्यसभा में बीजेपी के कुल 58 सदस्य हैं, जबकि सदन की सबसे बड़ी पार्टी के रूप में कांग्रेस के पास 59 सदस्य हैं।

सहायक निर्वाचन अधिकारी मुकुल पांडेय ने संसद भवन में संवाददाताओं से कहा कि मतदान का समय खत्म होने तक निर्वाचक मंडल के 785 सदस्यों में से 771 ने वोटिंग में हिस्सा लिया इस तरह शाम 5 बजे तक कुल 98.21% मतदान दर्ज हुआ

राज्यसभा सांसद रेखा भी आज वोट डालने के लिए संसद भवन पहुंची। बता दें कि रेखा और सचिन तेंदुलकर की राज्यसभा में गैरहाजिरी को लेकर कई बार सवाल खड़े हो चुके हैं।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी संसद में वोट डालने पहुंचे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपना वोट डाल दिया है। पीएम मोदी समय के कितने पाबंद है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वह सुबह 10 बजते ही संसद में वोट डालने पहुंच गए। पीएम मोदी के साथ संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार और कई सासंद मौजूद थे।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी वोट डालने पहुंचे। योगी आदित्यान गोरखपुर से सांसद हैं। सीएम योगी से जब लोकसभा से इस्तीफा देने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पार्टी जो कहेगी मैं वही करुंगा। समय आने पर बता दिया जाएगा। वोटिंग शुरू होने से पहले वैंकेया नायडू ने कहा, मैं किसी व्यक्ति विशेष या पार्टी के खिलाफ नहीं लड़ रहा हूं, मैं उप-राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लड़ रहा हूं। मैं सभी सांसदो को जानता हूं और वो मुझे जानते हैं। यही कारण है कि मैंने प्रचार भी नहीं किया है। मैंने सभी को चिट्ठी लिखी है जिस पर मुझे अच्छा रिस्पॉंस मिला है। मैं आश्वस्त हूं कि सभी लोग मुझे वोट करेंगे।

ये भी पढ़ें-भारत ने नहीं हटाई सेना तो दो हफ्तों में हमला कर सकता है चीन : ग्लोबल टाइम्स

गोपाल कृष्ण गांधी ने कहा है कि सारी पार्टियों को हमारी जनतांत्रिक व्यवस्था पर पूरा भरोसा है, जिसका आधार जनता है। मुझे उम्मीद अपने बारे में नहीं देश के बारे में है। उन्होंने कहा कि नीतीश जी विपक्ष के प्रत्याशी का साथ दे रहे हैं ये उनका निर्णय है और उनका अधिकार भी है। गांधी ने कहा है कि ये लड़ाई नहीं एक चुनाव है। उन्होंने बताया कि वह दिन भर पार्लियामेंट में रहेंगे।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

Share it
Top