Top

क्‍या आपमें भी है कोरोना के लक्षण? जानने के लिए Jio का यह टूल इस्‍तेमाल कर सकते हैं

Ranvijay SinghRanvijay Singh   25 March 2020 12:53 PM GMT

क्‍या आपमें भी है कोरोना के लक्षण? जानने के लिए Jio का यह टूल इस्‍तेमाल कर सकते हैं

कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच आज हर किसी के मन में यह सवाल उठ रहा है कि कहीं वो भी कोरोना से संक्रमित तो नहीं है। हल्‍की खांसी या जुकाम होने पर मन में पहला ख्‍याल यही आता है कि कहीं कोरोना से पीड़‍ित तो नहीं हो गए। इन्‍हीं सवालों और शंकाओं को दूर करने के लिए सरकार का हेल्‍प लाइन नंबर काम कर रहा है। साथ ही तकनीक के इस दौर में कई टूल भी हैं जो मददगार साबित हो रहे हैं। इन्‍हीं में से एक टूल है जिसे Reliance Jio ने माइक्रोसॉफ्ट के साथ मिलकर लॉन्‍च किया है।

टेलिकॉम कंपनी Reliance Jio ने इस से आप जान सकते हैं कि आपमें कोरोना के लक्षण हैं या नहीं। यह टूल Myjio ऐप पर उपलब्‍ध है। इसका नाम coronavirus - Info & tools है। यह टूल आपसे कुछ जानकारी मांगता है, जैसे आपकी ट्रैवल हिस्‍ट्री, आपको बुखार है या नहीं, आप इस बीच किसी कोरोना के पॉजिट‍िव मरीज से मिले हैं या नहीं। इन जानकारी के आधार पर ही यह टूल आपको बताएगा कि आपमें कोरोना के लक्षण हैं या नहीं।

कैसे यूज करें यह टूल

आपको सबसे पहले MyJio ऐप में जाना होगा। यहां आपको #CoronaHaaregaIndiaJeetega का बैनर मिलेगा। यहां क्‍लिक करने पर आप सीधे इस टूल पर जाएंगे। यहां आपको Symptom Checker लिखा दिखाई देगा, इसपर क्‍लिक करने के बाद आपसे कुछ सवाल पूछे जाएंगे। सबसे आखिरी आपको रिजल्‍ट पता चलेगा।


इस टूल में आपको Covid-19 के भारत में कितने टेस्‍ट सेंटर हैं इस बारे में जानकारी भी मिल सकती है। साथ ही अभी भारत में कितने कोरोना के पॉजिट‍िव केसे हैं, कितने मरीज रिकवर हुए हैं और कितने लोगों की मौत हुई यह सारी जानकारी आपको मिल जाएगी।

लखनऊ के KGMU के कोरोना की टेस्‍ट‍िंग लेबोरेट्री में काम करने वाली डॉ. अमिता जैन का इस तरह के ऐप के बारे में कहना है कि ''ऐसे ऐप मददगार साबित हो सकते हैं। क्‍योंकि लोग हेल्‍प लाइन नंबर पर कॉल करते हैं और वो व्‍यस्‍त रहते हैं। कितने की कॉल रोज मुझे आ रहे हैं कोरोना को लेकर। ऐसे में अगर इस ऐप पर वही सवाल पूछे जा रहे हैं जो डॉक्‍टर अभी पूछ रहे हैं तो यह अच्‍छा है। इससे लोगों को मदद मिलेगी। यह भी बात है कि अगर माइक्रोसॉफ्ट जैसी कंपनी कुछ बना रही है तो उसके अच्‍छे होने की उम्‍मीद रहती है।'' वहीं, लखनऊ के सिविल अस्‍पताल के डॉ. अजय त्रिपाठी भी इस तरह के ऐप को सही मानते हैं। उनके मुताबिक, 'अवेयरनेस जहां से हो वो अच्‍छा है।'

लोगों के बीच कोरोना के लक्षण को लेकर तमाम तरह की भ्रांतियां फैली हुई हैं। इस वजह से सरकार के द्वारा जारी हल्‍पलाइन नंबर पर भी लोड बढ़ जाता है। लोग हल्‍की खांसी होने पर भी सवाल कर रहे हैं। ऐसे में जो सवाल उनसे हेल्‍पलाइन नंबर पर पूछे जा रहे हैं, ठीक वैसे ही Jio के ऐप में भी पूछे जा रहे हैं। इससे लोगों को खुद यह पता चल सकेगा कि उनमें कोरोना के लक्षण हैं या नहीं। ऐसे में Jio कर सह ऐप लोगों के लिए मददगार साबित हो सकता है।

भारत में टेस्‍ट‍िंग को लेकर उठ रहे सवाल

देश में कोरोना के मामलों की टेस्‍ट‍िंग को लेकर भी लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि देश में कोरोना के मरीजों की कम तादाद में टेस्‍ट‍िंग हो पा रही है। इसके पीछे की वजह से है भारत में टेस्‍ट‍िंग लैब की कमी। इसी कमी को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार ने 12 प्राइवेट लैब को कोरोना के मरीजों को टेस्ट करने की इजाजत दे दी है। इन लैब्‍स के पास देश भर में हजारों कलेक्शन सेंटर हैं।


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.