कश्मीरी छात्रों को भारत दर्शन करा रहा सीआरपीएफ

कश्मीरी छात्रों को भारत दर्शन करा रहा सीआरपीएफ

लखनऊ। पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले के बाद से भारत में तनाव का माहौल बना हुआ है। फरवरी 14 को हुए इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। तब से खबरें आ रही हैं कि कश्मीरी लोगों पर हमले हो रहे हैं, कश्मीरी छात्रों पर हमले हो रहे हैं। इस माहौल में सीआरपीएफ 15 टीनेजर्स को भारत दर्शन के लिए ले गया है।

17 से 19 साल के ये बच्चे कश्मीर की अलग-अलग जगहों से हैं- कुपवारा, शोपियां, सोपोर और बारामुल्ला। ये बच्चे 18 फरवरी को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता पहुंचे और आज 22 फरवरी को ये वापस कश्मीर जाएंगे। सीआरपीएफ ने इससे पहले एक हेल्पलाइन नंबर जारी कर विद्यार्थियों को किसी भी मुश्किल की परिस्थिति में मदद मांगने के लिए कहा था।

ये भी पढ़ें- इस अधिकारी की पहल पर कश्मीरी युवाओं को मिलेगा रोजगार, उत्तरी कश्मीर में खुला पहला बीपीओ

इकॉनमिक टाइम्स के अनुसार सीआरपीएफ के आईजीपी एस, रवींद्रन कहते हैं-

"ये हमारी कोशिश है कश्मीरी लोगों को बताने की कि हम उनके खिलाफ नहीं हैं, हम उन लोगों के खिलाफ हैं जो अपने रास्ते से भटक जाते हैं, हम उन्हें रेडिकल (उग्र) होने से रोकना चाहते हैं। हम उन्हें ये एहसास कराना चाहते हैं कि हम एक हैं।"

सीआरपीएफ ने अपने कैंपस में ऑफिसर्स क्लब को बच्चों के लिए डॉरमेट्री में तब्दील कर दिया है। बच्चों की सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ जवान की अलग टीम बनाई गई है।

सीआरपीएफ ने बच्चों के माता-पिता को धन्यवाद देते हुए कहा कि इतने तनाव के माहौल में भी उन्होंने अपने बच्चों को हमारे साथ भारत दर्शन के लिए भेजा ये एक सकारात्मक पहल है।

इस तरह के और भी छोटे-छोटे काफिले शुरू हुए हैं। 'ज़िंदादिल कश्मीर' नाम के ट्विटर हैंडल ने एक वीडियो शेयर किया इसमें आर्मी जवान बच्चों को भारत दर्शन के लिए ले जा रहे हैं। 21 फरवरी को श्रीनगर से ये काफिला रवाना हुआ था।

केरल राज्य में स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया के प्रिंसिपल और रीजनल डायरेक्टर किशोर गोपीनाथ ने ट्वीट कर बताया कि सीआरपीएफ 36 कश्मीरी बच्चों को भारत दर्शन प्रोग्राम के तहत केरल लेकर आया।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top