31 जनवरी को सीमैप का किसान मेला, जुटेंगे देशभर के किसान

31 जनवरी को सीमैप का किसान मेला, जुटेंगे देशभर के किसानकेन्द्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान

लखनऊ। केन्द्रीय औषधीय एवं सगंध पौधा संस्थान ‘सीमैप’ लखनऊ 31 जनवरी को सालाना किसा मेले का आयोजन कर रहा है। इस मेले में देशभर के लगभग 7000 किसान भाग लेंगे। सीमैप ने पिछले साल सुगंधित पौधे को लेकर अपना लक्ष्य निर्धारित किया था। इसमें लाभानन्वित किसान बुंदेलखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, विदर्भ, राजस्थान, ओडिशा, गुजरात, तमिलनाडु, कर्नाटक और उत्तर भारत के राज्यों से आएंगे।

किसान मेला के दौरान वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) की 18 प्रयोगशालाएं ग्रामीण और कृषि से सबंधित अपनी तकीनक का प्रदर्शन करेंगी। इस दौरान कई किसान एरोमा मिशन के दौरान अपनी प्रगति की कहानियां खुद अपनी जुबानी सुनाएंगे।

ये भी पढ़ें- खेती और पशुपालन एक साथ होने से ही बढ़ सकती है किसान की आमदनी : गिरिराज सिंह

किसान मेले में यूपी के अलग-अलग हिस्सों से किसान शामिल होंगे।

ये भी पढ़ें- अगेती मिंट तकनीक से इस महीने कर सकते हैं मेंथा की खेती की तैयारी 

सीमैप के मेले में बतौर मुख्य अतिथि केंद्रीय राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार), सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय, गिरिराज सिंह भारत सरकार, मौजूद रहेंगे। इसके अलावा सूर्य प्रताप शाही, कृषि मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार, डॉ गिरीश साहनी, महानिदेशक सीएसआईआर, डॉ आलोक कालरा, मुख्य वैज्ञानिक, सीएसआईआर, सीमैप, डॉ संजय कुमार, वरिष्ठ वैज्ञानिक आदि बतौर विशिष्ट अतिथि सीएसआईआर, सीमैप आदि मौजूद रहेंगे।

जो किसान मेंथा की खेती करते हैं उनके लिए अच्छी ख़बर है। नर्सरी बनाने के लिए मिंट के बीज खरीद के लिए रजिस्ट्रेशन जारी है। सीमैप के मनोज सेमवाल ने बताया, “ किसानों को मेले के बाद से बीज और पौधों का वितरण किया जाएगा।” ऐसे में जो किसान मिंट की खेती की जानकारी या बीज लेना चाहते हैं तो 31 जनवरी को केंद्रीय औषधीय एवं सगंध संस्थान (सीमैप), लखनऊ, सुबह 10:30 बजे जरूर पहुंचे। किसानों के लिए एंट्री फीस 100 रुपए फीस निर्धारित की जाएगी। जिसमें किसानों को खेती-किसानी से संबंधित पाठ्य सामग्री, खाने का टोकन आदि दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें- सीमैप में आयोजित मेला में किसानों को मिली औषधीय फसलों की जानकारी

Share it
Top