Cyclone Bulbul: बंगाल के तट से टकराया चक्रवात बुलबुल, अलर्ट पर नौसेना

west bengal, Bangladesh, cyclone bulbul

चक्रवाती तूफान बुलबुल ने पश्चिम बंगाल के तटीय इलाकों में दस्तक दे दी है। इससे कई जगह भारी बारिश हो रही है साथ ही तेज हवाएं भी चल रही हैं। कई जगहों से बड़ी संख्या में पेड़ उखड़ने की भी खबरें हैं। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात की है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिया है।

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार फिलहाल चक्रवात देर रात से सुंदरबन नेशनल पार्क से 12 किमी दूर दक्षिणी पश्चिम की ओर पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश के तटीय इलाकों पर बना हुआ है। इस चक्रवाती तूफान का असर ओडिशा में भी देखने को मिल रहा है। मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि रविवार सुबह तक यह तूफान दक्षिण 24 परगना जिले के आगे बांग्लादेश के उत्तर पूर्व में मुड़ जाएगा।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि वे खुद स्थिति की निगरानी कर रही हैं और बुलबुल तूफान से लड़ने के लिए प्रशासन हरसंभव इंतजाम कर रहा है। उन्होंने नागरिकों से शांति कायम रखने और परेशान न होने का आग्रह किया है। स्कूल, कॉलेज और आंगनवाड़ी केंद्र बंद रखे गए और तटीय क्षेत्रों के 1.2 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचा दिया गया है।

वहीं ओडिशा के केंद्रपाड़ा जिले में 1070 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। बालासोर और जगतसिंहपुर जिले में भी 1500 से ज्यादा लोगों को सुरक्षित जगहों पर भेजा गया।

नौसेना को आपदा से निपटने के लिए तैयार रखा गया है। नौसेना ने अपने विमानों और राहत सामग्री भरे तीन जहाजों को तैयार रखा और मछुआरों को समुद्र की ओर न जाने की चेतावनी दी है। उन्हें करीबी बंदरगाहों और अन्य जगहों पर जाने की सलाह भी दी गई है।

मौसम विभाग (IMD) के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा है कि चक्रवाती तूफान बुलबुल की निगरानी की जा रही है और इसके तट से टकराने के संभावित स्थान का आकलन किया जा रहा है। बंगाल के तटीय जिलों पूर्वी मिदनापुर, उत्तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना जिलों में नौ से 11 नवंबर तक भारी बारिश की आशंका है।

उत्तरी ओडिशा और बंगाल के तटीय इलाकों में मछुआरों को समुद्र में न जाने का निर्देश दिया गया है। तूफान के कारण दक्षिण असम, मेघालय, त्रिपुरा और मिजोरम के कुछ इलाकों में अगले 36 घंटे में मध्यम या भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top