कहीं खतरनाक गेम तो नहीं बन रहे बच्चों की मौत की वजह

कहीं खतरनाक गेम तो नहीं बन रहे बच्चों की मौत की वजहओडिशा में सैड आर्टिस्ट पटनायक ने रेत पर ब्लू व्हेल गेम की तस्वीर उकेर गेम से दूर रहने का संदेश दिया। 

लखनऊ। ब्लू व्हेल जैसे खतरनाक गेम तो बच्चों के मौत की वजह नहीं बन रहे? इसी खतरनाक गेम के चलते चंद दिनों पहले गाजीपुर के आदित्य वर्धन ने फांसी लगाकर जान दी थी। परिवार को शक नहीं बल्कि यकीन है कि वह खतरनाक गेम खेल रहा था और उसके सबूत भी आदित्य की मां के मोबाइल फोन पर मिले थे। कुछ ऐसा ही हादसा मंगलवार को लखनऊ के कृष्णा नगर एलडीए कॉलोनी में देखने को मिला। बेसिक हेल्थ वर्कर के बेटे ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर दी। परिवार और मोहल्ले के लोगों ने उसके मौत का कारण खतरनाक गेम बताया। पुलिस बच्चे के लैपटॉप और मोबाइल फोन का डाटा खंगाल रही है।

दसवीं कक्षा में पढ़ाई कर रहा था छात्र

कानपुर रोड एलडीए कॉलोनी एमएमडी-1 निवासी मनीष कुरील बेसिक हेल्थ वर्कर है। उनके परिवार में पत्नी मंजू, मां सुशीला, भाई रवीश और सुनीत के साथ उसकी पत्नी नीना है। मनीष का बेटा आदित्य (15) दसवीं कक्षा का छात्र है। उसने फैजाबाद के एक स्कूल में दसवीं का फार्म भरा है जबकि वह हजरतगंज स्थित एक कोचिंग से पढ़ाई कर रहा था। मंगलवार शाम आदित्य अपने कमरे में पढ़ाई कर रहा था। दादी सुशीला उसे खाने पर बुलाने के लिए उसके कमरे में गई थी। उसका दरवाजा खटखटाया किया लेकिन अंदर से कोई आवाज नहीं आई।

ये भी पढ़ें:- विशेष : लखनऊ में ब्लू व्हेल ने ली बच्चे की जान, मिर्जापुर एस.पी. ने शुरू किया अभियान

दुपट्टे से लगाई थी फांसी

दरवाजा न खुलने पर परिजनों को शक हुआ और उन्होंने खिड़की से झांक कर देख तो उसका शव दुपट्टे के लटक रहा था। उसने दुपट्टे का फंदा बनाकर खिड़की से फांसी लगाई थी। परिजनों ने दरवाजा धक्का देकर खोला और आदित्य को फंदे से नीचे उतारा। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। परिजनों और मोहल्ले के लोगों ने इसकी सूचना कृष्णा नगर पुलिस को दी।

खतरनाक गेम के चलते मौत का शक

परिजनों और मोहल्ले के लोगों का कहना है कि आदित्य की मौत की वजह खतरनाक गेम है। वह अक्सर मोबाइल फोन पर गेम खेलता था। वह अक्सर अपने कमरे में अकेले बैठाकर गेम खेलता था। दो दिन पहले उसके पिता मनीष ने नाराजगी जताते हुए उसका मोबाइल फोन भी छीन लिया था। कमरे में आदित्य ने फांसी लगाई थी वहां उसका पुलिस ने लैपटॉप भी खुला पाया।

ये भी पढ़ें:- ब्लू व्हेल गेम: गाँवों में पहुंचा मौत का ये खेल

लैपटॉप और मोबाइल फोन की हो रही जांच

परिजनों और मोहल्ले के लोगों से पूछताछ के बाद पुलिस आदित्य का लैपटॉप और मोबाइल फोन का डाटा खंगाल रही है। इंस्पेक्टर कृष्णा नगर अंजनी कुमार पांडेय ने बताया कि खतरनाक गेम के चलते बच्चे की मौत की वजह को तलाशने के लिए उसके लैपटॉप को चेक किया जा रहा है। लैपटॉप में फिलहाल कोई गेम नहीं मिला है लेकिन एक्सपर्ट से गेम को डिलिट करने की जानकारी कराई जा रही है। पिता का कहना है कि आदित्य पढ़ाई में कमजोर था और उससे ऊपर पढ़ाई का प्रेशर ज्यादा था। संभावना जताई जा रही कि सुसाइड की एक वजह यह भी हो सकती है।

ये भी पढ़ें:- ऑनलाइन गेम ‘ब्लू व्हेल चैलेंज’ पर सरकार ने लगायी रोक

ये भी पढ़ें-ख़बर जो सवाल खड़े करती है : भारत में दूध उत्पादन तो खूब हो रहा है लेकिन पीने को नहीं मिल रहा है

सरकारी रिपोर्ट : किसान की आमदनी 4923 , खर्चा 6230 रुपए

यह भी पढ़ें- Video : यूपी बोर्ड में इस बार स्वकेन्द्र परीक्षा नहीं

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top