गोरखालैंड आंदोलन : पुलिस फायरिंग में दो की मौत, कई घायल

गोरखालैंड आंदोलन : पुलिस फायरिंग में दो की मौत, कई घायलकई पुलिसकर्मी भी घायल हुए।

दार्जीलिग। दार्जीलिंग पर्वतीय क्षेत्र में गोरखालैंड आंदोलन एक बाद फिर से रक्तरंजित हो गया है। 80 के दशक के बाद शनिवार को पहाड़ों की रानी दार्जीलिंग को एक बार फिर से लहुलूहान होना पड़ा है। पुलिस फायरिंग में दो आंदोलनकारियों की मौत हो गयी है और दर्जन भर से अधिक घायल हो गए हैं।

ये भी पढ़ें- ICC Champions Trophy Final: भारत पाकिस्तान के बीच कल होगी खिताबी भिड़ंत

मोरचा समर्थकों ने भी जवाबी कार्रवाई की। मोरचा समर्थकों ने भी पुलिस पर हमला किया। पत्थरों से हमले किए गए जिसमें 19 पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। इसमें आरइबी की कमांडेंट किरण तामंगी की हालत गंभीर है। उनको इलाज के लिए सिलीगुड़ी लाया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार गोरखालैंड की मांग को लेकर गोजमुमो ने पहले से ही पहाड़ बंद का ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें- आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी 2017: इन पांच खिलाड़ियों की बदौलत भारत एक बार फिर बनेगा चैंपियन

दो दिन पहले मोरचा सुप्रीमो बिमल गुरूंग के घर और कार्यालय पर पुलिस ने छापेमारी की थी। उसके बाद से पहाड़ पर बेमियादी बंद का ऐलान किया गया है। पुलिस कार्रवाई के विरोध में शनिवार को गोजमुमो ने दार्जीलिंग सहित पूरे पहाड़ पर रैली निकालने की घोषणा की थी।

इस रैली को रोकने के लिए पुलिस ने पुलिस ने पहले से तगड़ा इंतजाम कर रखा था। दिन में करीब 11 बजे जब मोरचा की रैली निकली उसके बाद ही परिस्थिति बिगड़ गई। मोरचा समर्थकों पर पुलिस के बीच भिड़ंत हो गई। भीड़ का तितर–बितर करने के लिए पुलिस ने पहले आंसू गैस के गोले दागे। जवाब में मोरचा समर्थकों ने भी पुलिस पर हमला बोल दिया। इस दौरान पुलिस की कई गाड़ियां भी फूंक दी गई। स्थिति बेकाबू देख पुलिस को गोली चलानी पड़ी। इसमें दो मोरचा समर्थक मारे गए।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top