LIVE : दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, आप ने कहा, ईवीएम से छेड़छाड़ संभव, सदन में दिखाया डेमो

LIVE :  दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र शुरू, आप ने कहा, ईवीएम से छेड़छाड़ संभव, सदन में दिखाया डेमोनेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता को सदन से बाहर किया गया।

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा का विशेष सत्र जारी है। इस दौरान ईवीेएम पर खुलासा किया जा रहा है। इस दौरान आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज सदन में ईवीएम टेंपरिंग का डेमो दिखा रहे हैं।

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने सदन में कहा, मैं एक ऐसी मशीन लाया हूं जो दिखने में ईवीएम जैसी है। सौरभ भारद्वाज ने मशीन के जरिए दिखाया कि कैसे ईवीएम से छेड़छाड़ की जाती है। उन्होंने कहा कि सभी पार्टी का एक सीक्रेट कोड होता है। इसके जरिए ईवीएम से छेड़छाड़ की जा सकती है।

सौरभ ने कहा, ‘मैंने बीटेक किया है। दस साल बड़ी-बड़ी कंपनियों को दिए। मैं चैलेंज करता हूं कि कोई भी साइंटिस्ट ये साबित कर दे कि ऐसा क्यों हो रहा था। कोई भी बटन दबाओ वोट भाजपा को क्यों जा रहा था। मैं राजनीति छोड़ दूंगा अगर गलत साबित हुआ।’

डेमो देखने के लिए जेडीयू, टीएमसी, आरजेडी और सीपीएम के नेता विधानसभा में मौजूद हैं।

मैंने बीटेक किया है। दस साल बड़ी-बड़ी कंपनियों को दिए। मैं चैलेंज करता हूं कि कोई भी साइंटिस्ट ये साबित कर दे कि ऐसा क्यों हो रहा था। कोई भी बटन दबाओ वोट भाजपा को क्यों जा रहा था। मैं राजनीति छोड़ दूंगा अगर गलत साबित हुआ।
सौरभ भारद्वाज, नेता, आप

बहस शुरू होने से पहले नेता प्रतिपक्ष के नेता विजेंद्र गुप्ता का माइक बंद कराया दिया गया। स्पीकर ने कहा कि जिस विषय पर आज चर्चा होगी वो लोकतंत्र का हिस्सा है। ये मुद्दा पूरे देश के लोगों से जुड़ा है। विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने भाजपा के विजेंद्र गुप्ता को सवाल करने का मौका नहीं दिया। देश को लोकतंत्र का खतरे में है। अध्यक्ष ने भाजपा नेता से कहा कि आपने कभी लोकतंत्र को देखा। सदन को आपके सदन का मदारी बना लिया है।

दिल्ली विधानसभा में भाजपा हंगामा किया। विजेंद्र गुप्ता ने दावा किया कि उनके पास भ्रष्टाचार से जुड़े कई दस्तावजे हैं। कई बार मना करने के बाद भी जब विजेंद्र गुप्ता नहीं माने तो उन्हें सदन की कार्रवाई से बाहर कर दिया गया। कपिप मिश्रा भी विधानसभा पहुंच गए हैं।अध्यक्ष ने कहा आज भारत के लिए लोकतंत्र के लिए बड़ा दिन है।

अलका लांबा ने ईवीएम पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि जब सवाल उठ रहे हैं तो इसपर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है। हर कोई सवाल उठा रहा था कि हम जिसे वोट देंगे वोट उसी को जाएगी कि किसी और को जाएगा। कुछ वैज्ञानिकों ने ये बताया था कि टेंपरिंग पूरी तरह संभव है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने कहा था कि जब चिप लगाकर तेल चोरी की जा सकती है तो ईवीएम के साथ छेड़छाछ़ क्यों नही हो सकती। ईवीएम होते हुए भी एमसीडी चुनाव पुरानी ईवीएम से कराया गया।

इससे पहले आज सुबह केजरीवाल ने व्हिप जारी करके सभी विधायकों को दो बजे सदन में उपस्थित रहने को कहा था।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top