दिल्ली : किडनी रैकेट का भंडाफोड़, महिला समेत चार गिरफ्तार

दिल्ली : किडनी रैकेट का भंडाफोड़, महिला समेत चार गिरफ्तारमहिला समेत चार लोग गिरफ्तार।

नई दिल्ली। दिल्ली पुलिस ने किडनी की खरीद-फरोख्त में शामिल एक महिला सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों में संगम विहार के पास स्थित बत्रा अस्पताल का एक कर्मचारी भी शामिल है। हैदराबाद के एक शख्स को किडनी दिलाने के लिए आरोपियों ने उसके परिजनों से 40 लाख रुपये लिए और जयपुर के एमबीए छात्र को चार लाख रुपये में किडनी डोनेट करने के लिए डील तय की थी।

किडनी देने व लेने की सभी कानूनी प्रक्रिया पूरी करने के बाद बृहस्पतिवार को बत्रा अस्पताल ने डोनर को अस्पताल बुलाया और ट्रांस प्लांट के लिए बनाई गई डॉक्टरों की कमेटी ने भी इसे हरी झंडी दे दी। इस बीच, पूरे मामले पर नजर रख रही क्राइम ब्रांच की टीम ने एक के बाद एक चारों आरोपियों को दिल्ली के अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार कर लिया।

ये भी पढ़ें : कोडियार बालकृष्ण का आरोप- सेना किसी भी महिला को उठा कर दुष्‍कर्म कर सकती है

संयुक्त आयुक्त क्राइम ब्रांच प्रवीर रंजन के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों के नाम जयंत साहू उर्फ राहुल, सुलेखा पांडा, अनोज पात्रा व बिरजू पासवान हैं। इनमें बिरजू पासवान बत्रा अस्पताल का कर्मचारी है। वह पहले दिल्ली के एक बड़े अस्पताल में काम करता था, लेकिन कुछ वर्षों से अब बत्रा अस्पताल में काम कर रहा था।

जयपुर से एमबीए की पढ़ाई कर रहे जयदीप शर्मा व उसके एमबीए छात्र दोस्त राजेश को पिछले साल सितंबर में इंटरनेट पर कुछ सर्च करने के दौरान एक साइट पर किडनी डोनेट करने पर मोटी रकम मिलने की जानकारी मिली थी। दोनो गरीब परिवार से हैं, उन्हें पैसों की जरूरत थी। लिहाजा राजेश इस गिरोह से संपर्क कर दिल्ली आया था। उसके बाद से राजेश का कोई अता-पता नहीं है।

ये भी पढ़ें : राहुल गांधी प्रशासन की मंजूरी के बिना ही हिंसाग्रस्त सहारनपुर के लिए रवाना, रोकने का होगा प्रयास

जयदीप ने अपने दोस्त को ढूंढने के लिए गिरोह से बातचीत शुरू कर इसकी सूचना न्यूज चैनल को दे दी। इसके बाद क्राइम ब्रांच की 20 सदस्यीय टीम इस पूरे रैकेट का भंडाफोड़ करने के लिए 40 दिनों तक डोनर जयदीप शर्मा व एक न्यूज चैनल के संवाददाता के साथ स्टिंग ऑपरेशन में जुटी रही।

इस किडनी रैकेट से जुड़ी तमाम प्रक्रिया को लेकर क्राइम ब्रांच ने करीब 200 घंटे की वीडियो रिकॉर्डिंग की। उसके बाद रैकेट का भंडाफोड़ कर आरोपियों को दबोच लिया गया। प्रवीर रंजन का कहना है कि इस मामले में बत्रा अस्पताल के कुछ डॉक्टरों से शुक्रवार को क्राइम ब्रांच की इंटर स्टेट सेल मे पूछताछ की गई।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top