आम आदमी की जेब पर बढ़ा बोझ, डीजल की कीमतें उच्चस्तर पर, दिल्ली में 15 साल का रिकॉर्ड टूटा 

आम आदमी की जेब पर बढ़ा बोझ, डीजल की कीमतें उच्चस्तर पर, दिल्ली में 15 साल का रिकॉर्ड टूटा पेट्रोल पंप। प्रतीकात्मक फोटो

लखनऊ। पेट्रोल और डीजल के दामों के लेकर सरकार आम लोगों को धीरे-धीरे हर रोज झटका दे रही है। पेट्रोल और डीजल की कीमतें एक बार फिर से सुर्खियों में आ गई है। दिल्ली में डीजल की कीमतें अब तक के सबसे ऊंचे स्तर 59.14 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच चुकी है। वहीं, पैट्रोल के दाम 70.88 रुपए प्रति लीटर हो गए है।

डीजल 15 साल के उच्चतम स्तर पर

अगर डीजल की कीमतों के बात की जाए तो मंगलवार के दिन दिल्ली में डीजल की कीमत 59.14 रुपए प्रति लीटर है, वहीं मुंबई में यह कीमत 62.73 रुपए प्रति लीटर हो गई है। दिल्ली में डीजल की कीमत पिछले 15 सालों में सबसे अधिक है। इंडियन ऑयल की वेबसाइट पर 4 जून 2002 तक के आंकड़े मौजूद हैं, जिनके हिसाब से मंगलवार को दिल्ली में डीजल की कीमत अब तक के उच्चतम स्तर पर है। इससे पहले 16 जनवरी 2017 को दिल्ली में डीजल की कीमत 59.02 रुपए के स्तर पर पहुंची थी और मंगलवार, 3 अक्टूबर 2017 को डीजल के दाम इससे भी अधिक हो गए हैं।

ये भी पढ़ें- गन्ने के ठूंठ और कचरे से पेट्रोल बनाने की योजनाओं पर काम कर रही है सरकार : प्रधान

पेट्रोल पहुंचा 80 रुपए के करीब

जहां एक ओर डीजल की कीमत पिछले 15 सालों में सबसे अधिक हो गई हैं, वहीं दूसरी ओर पेट्रोल की कीमत भी 80 का आंकड़ा छूने को बेकरार है। दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 70.88 के स्तर पहुंच गई है, वहीं मुंबई में यह कीमत 79.99 रुपए हो गई है। रोजाना कीमतों की समीक्षा शुरू होने के बाद 16 जून 2017 से लेकर अब तक पेट्रोल कीमतों में कई उतार-चढ़ाव के बाद 3 अक्टूबर तक दिल्ली में पेट्रोल कीमतों में 5.35 रुपए की बढ़ोत्तरी हो चुकी है।

महानगरों में क्या है कीमत?

अगर महानगरों में पेट्रोल की कीमतों की बात की जाए तो मंगलवार, 3 अक्टूबर को दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 70.88 रुपए, कोलकाता में 73.62 रुपए, मुंबई में 79.99 रुपए और चेन्नई में 73.48 रुपए हो गई है। वहीं दूसरी ओर, डीजल की कीमत दिल्ली में 59.14 रुपए, कोलकाता में 61.80 रुपए, मुंबई में 62.82 रुपए और चेन्नई में 61.30 रुपए के स्तर पर पहुंच गई है।

ये भी पढ़ें- देश में एक ऐसा राज्य जहां मिलता है सबसे सस्ता पेट्रोल, जानें क्या है वजह

अमेरीकी तूफान के बाद कच्चे तेल की कीमत मे बढ़ोतरी

आपको बता दें कि अमेरिका मे तूफान आने के वजह से कई ऑयल रिफाइनरी के बंद होने से अंतराष्ट्रीय बाजार मे कच्चे तेल की कीमत में इजाफा हुआ है, जिसका असर भारत में भी देखने को मिल रहा है। अंतराष्ट्रीय बाजार में 1 से 25 सिंतबर के बीच कच्चे तेल की कीमत में 12 फीसदी का बढ़ोतरी हुआ है। इसके बाद अब कच्चे तेल की कीमत 59 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया है। हलांकि सोमवार को यह 56 डॉलर प्रति बैरल पर रहा।

कैसे तय होते हैं पैट्रोल-डीजल के दाम

तेल कंपनियां तीन आधार पर पैट्रोल और डीजल के दाम तय करती हैं। पहला इंटरनैशनल मार्कीट में कच्चे तेल का भाव, दूसरा देश में इंपोर्ट (आयात) करते वक्त भारतीय रुपए की डॉलर के मुकाबले कीमत और तीसरा आधार इंटरनैशनल मार्कीट में पैट्रोल-डीजल के क्या भाव हैंं।

ये भी पढ़ें- क्या आप जानते हैं, पेट्रोल-डीजल खरीदते समय आपसे वसूला जाता है यह शुल्क

ये भी पढ़ें- महंगाई में पेट्रोल ने तोड़ा तीन वर्षों का रिकार्ड, एक जुलाई से इतने बदले दाम

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top