सरकार के विभागों में भ्रष्टाचार के मामलों को डिजिटली रजिस्टर करें : कमल हासन

सरकार के विभागों में भ्रष्टाचार के मामलों को डिजिटली रजिस्टर करें : कमल हासनकमल हासन

चेन्नई (भाषा)। राज्य सरकार के विभागों में भ्रष्टाचार व्याप्त होने का आरोप लगाने की वजह से मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी समेत सत्तारुढ़ अन्नाद्रमुक के निशाने पर चल रहे अभिनेता कमल हासन ने जनता से अनुरोध किया है कि वे सरकार में भ्रष्टाचार के मामलों को डिजिटली रजिस्टर करें।

पलानीस्वामी सहित मंत्रियों के हमलों पर अपनी पहली प्रतिक्रिया में 62 वर्षीय अभिनेता ने बीती रात कहा कि हिंदी को लागू करने के खिलाफ अपने विचार रखने के दिन से वह 'शौकिया नेता' बन गये। पलानीस्वामी समेत कई मंत्रियों ने हासन को राजनीति में आने की सलाह देते हुए उनसे कहा था कि पहले वह राजनीति में आयें फिर आरोप लगायें।

सरकार के विभागों में भ्रष्टाचार के अपने आरोपों पर मंत्रियों द्वारा सबूत मांगे जाने के जवाब में उन्होंने कहा कि समूचा राज्य इस संबंध में आरोप लगा रहा है और कई मीडिया संगठनों ने भी इस बारे में रिपोर्ट किया है। अभिनेता ने अपने आलोचकों को जवाब देते हुए कहा, ''प्रिय छोटे भाई (डी) जयकुमार (राज्य के वित्त मंत्री)'' जिनकी इच्छा है कि मैं राजनीति में आऊं या फिर भाजपा के एच राजा, यह नहीं जानते कि मैं पहले ही राजनीति में प्रवेश कर चुका हूं।

ट्विटर पर अपने बयान में उन्होंने कहा, ''हिंदी को लागू करने के खिलाफ जिस दिन मैंने अपने विचार रखे थे, उसी दिन से मैं शौकिया नेता बन गया।'' किसी का नाम लिये बगैर उन्होंने कहा, ''सत्ता के पीछे मौजूद लोगों और धन लेकर अपनी जवाबदेही भूलने वालों ने उनके खिलाफ कर चोरी के लिये कार्वाई की धमकी दी है। उन्होंने कहा कि इससे उन्हें गुस्सा और हंसी आयी।

उन्होंने कहा, ''अगर आपका इस सरकार में भ्रष्टाचार से वास्ता पड़ा है तो आपको उन्हें लिखना चाहिए। पत्रों या पोस्टकार्ड से उन्हें मत लिखिए, क्योंकि वे उन्हें फाड़ने के सिवा कुछ नहीं करेंगे। उन्हें डिजिटली और पूरे सम्मान से रिकॉर्ड करें।'' जाने माने अभिनेता ने फिल्मों को कर छूट देने में भारी भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा था कि फिल्म उद्योग से ही जुड़े कई लोग बेखौफ होकर ऐसे भ्रष्टाचार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, हालांकि उनके जैसे कुछ अपवाद भी हैं।

कमल हासन ने कहा, ''जनता भीड़ नहीं है। उनकी आवाज का सम्मान करें। उन्हें जल्द सुना जायेगा।'' लोगों को अपनी शिकायतें पहुंचाने के लिये उन्होंने राज्य सरकार की वेबसाइट के लिये एक डिजिटल लिंक भी दिया।

Share it
Share it
Share it
Top