डॉक्टरी के साथ-साथ शुरू की किसानी, आधुनिक तरीके से खेती को बनाया मुनाफे का सौदा

कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए आधुनिक खेती से अच्छा बिजनेस कुछ नहीं हो सकता। लेकिन मौसम का ध्यान, बाजार की समझ और खेती करने का सही ज्ञान होना बहुत जरूरी है

Chandrakant MishraChandrakant Mishra   5 Jan 2019 7:21 AM GMT

लखनऊ। "कम समय में ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए आधुनिक खेती से अच्छा बिजनेस कुछ नहीं हो सकता। लेकिन मौसम का ध्यान, बाजार की समझ और खेती करने का सही ज्ञान होना बहुत जरूरी है।" ये कहना है डॉक्टर पुनीत भारद्वाज का जो पेशे से डेंटिस्ट हैं, लेकिन पिछले डेढ़ साल से खेती कर रहे हैं।

मूलत: गोरखपुर के रहने वाले डॉक्टर पुनीत भारद्वाज लखनऊ में अपना डेंटल क्लीनिक चलाते हैं। ग्रामीण परिवेश से जुड़े पुनीत डॉक्टरी के अलावा कुछ और करना चाहते थे। अपने कई मित्रों और इंटरनेट पर रिसर्च करने के बाद उन्हें आधुनिक खेती करने का निश्चय किया। लखनऊ से 35 किमी दूर मोहनलालगंज के पास ये करीब तीन एकड़ में ब्रोकली, शिमला मिर्च और फूलों की खेती कर रहे हैं।

ये भी पढ़े: किसान दिवस विशेष: मर्सिडीज से चलता है यह किसान, करीब एक करोड़ रुपए है सालभर की कमाई

लो टनल विधि से तैयार कर रहे हैं शिमला मिर्च की फसल।

डॉक्टर पुनीत ने बताया, " पेशे से मैं डॉक्टर हूं। इस प्रोफेशन के साथ-साथ मैं आय के अन्य विकल्प तलाश रहा था, लेकिन कुछ समझ में नहीं आ रहा था। प्रत्येक व्यापार में लागत बहुत लग रही थी। रिस्क भी बहुत था। मेरे कुछ साथी डॉक्टर पहले से खेती कर रहे थे। उन्होंने मुझे सब्जियों और फूलों की खेती करने का सुझाव दिया। चूंकि, मैं भी ग्रामीण परिवेश से हूं तो मुझे भी यह आइडिया अच्छा लगा और मैंने खेती करने की ठान ली। जबसे खेती करनी शुरू की है तबसे मैंने पाया है कि बहुत से पढ़े-लिखे लोग भी खेती करते हैं। कई लोग तो अपनी नौकरी छोड़ कर आधुनिक खेती से अच्छा मुनाफा कमा रहे हैं।"

ये भी पढ़ें: स्टेकिंग विधि से सब्जियों की खेती कर मुनाफा कमा रहे किसान

ठंड और कोहरे से फसलों को कुछ तरह से किया जाता है बचाव।

लीज पर ली जमीन

उन्होंने आगे बताया, " खेती के लिए जमीन का होना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए मैंने लखनऊ के आस-पास जमीन तलाशी। जमीन के लिए मुझे काफी पेरशानियों का सामाना करना पड़ा। लोग लीज पर जमीन देने के लिए तैयार नहीं थे। लोग चार-पांच साल के लिए जी जमीन देने का तैयार थे, लेकिन मुझे कम से कम पंद्रह साल के लिए जमीन चाहिए थी। करीब तीन महीने संघर्ष के बाद मोहनलालगंज के पास जमीन मिली।"


ये भी पढ़ें:सोनामुखी की खेती से अपने साथ दूसरे किसानों की भी जिंदगी बदल रहा ये किसान

अगर खेती से ज्यादा मुनाफ कमाना है तो किसान को जागरूक रहना पड़ेगा। क्योंकि जिस समय हर किसान की उपज तैयार होती है उस समय आपकी भी फसल तैयार होगी तो आपको मुनाफा ज्यादा नहीं होगा। उस समय बजार में उस उत्पाद की भरमार होगी। लोग आपके उत्पाद को ज्यादा दाम नहीं देंगे।

इसके लिए अपनी फसल को इस तरह से तैयार करना होगा जो अन्य किसानों के पहले हो या बाद में। तभी आप के उत्पाद को ज्यादा दाम मिलेगा। इसके लिए पॉली हाउस काफी मददगार होता है। मैंने अभी भिंडी की नर्सरी लगाई है। सीजन आने के पहले मेरी भिंडी तैयार हो जाएगी, जिसका मुझे ज्यादा दाम निश्चित रूप से मिलेगा। अभी मैंने धनिया और मूली बेची है। जिसका मुझे अच्छा दाम मिला है।

धनिये की बीज तैयार करते डॉक्टर पुनीत।

ये भी पढ़ें: नर्सरी का गढ़ बन रहा अमरोहा, विदेशों तक पौधे बेच मुनाफा कमा रहे किसान

ड्रिप इरिगेशन सिस्टम से करते हैं सिंचाई

डॉक्टर पुनीत ड्रिप इरिगेशन विधि से सिंचाई करते है। उन्होंने बताया, " अगर किसान खेत में साधारण सिंचाई के बजाय ड्रिप विधि का प्रयोग करे तो तीन गुना ज्यादा क्षेत्र में उतने ही पानी में सिंचाई कर सकते हैं। सबसे पहले मैंने पूरे खेत में ड्रिप इरिगेशन सिस्टम लगवा दिया। मैंने अपने एक एकड़ में शिमला मिर्च के पौधे लगा रखे हैं।

फसल अच्छी होने की उम्मीद है। चूंकि यह मेरा पहला साल है इसलिए मुझे ज्यादा अंदाजा नहीं है कि कितना मुनाफा होगा, लेकिन मेरे जानने वाले लोग जो शिमला मिर्च की खेती कर रहे हैं उनका कहना है कि करीब डेढ़ लाख रुपए तक कमाई हो सकती है। ब्रोकली से भी बढ़िया आमदनी होने की उम्मीद है।

ये भी पढ़ें: मधुमक्खी पालन शुरू करने से पहले इन बातों का रखें ध्यान

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top