अब निजी चैट और वाट्सऐप पर सेबी की नजर

अब निजी चैट और वाट्सऐप पर सेबी की नजरप्रतीकात्मक तस्वीर।

लखनऊ। वाट्सऐप की बढ़ती लोकप्रियता के बीच बहुत से लोगों ने इसे ठगी और धोखाधड़ी का माध्यम भी बना लिया है। इन्हीं से निपटने के लिए अब भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने एक अहम कदम उठाया गया है। सेबी अपनी व्हिसलब्लोअर व्यवस्था को मजबूत करने में लगी हुई है।

ये भी पढ़ें- कोहरे के कारण दो महीने के लिए 8 ट्रेनें रद्द : पूर्वोत्तर रेलवे

सेबी ने पाया है कि वाट्सऐप, टेलीग्राम, प्राइवेट चैट ग्रुप आदि के जरिए निवेश के टिप्स और कई तरह की संवेदनशील सूचनाएं शेयर की जाती हैं। सेबी इस तरह से फर्जीवाड़ा करने वाले लोगों पर लगाम कसने की योजना बना रही है। बाजार को चढ़ाने उतारने में लगे ऐसे व्यक्ति और समूह इंटरनेट पर ऐसी साइटों का इस्तेमाल करते हैं, जिनको गूगल जैसे सामान्यत: इस्तेमाल किए जाने वाले सर्च इंजनों के जरिए मुश्किल से पकड़ा जा सकता है।

ये भी पढ़ें- इंडोनेशिया: बाली द्वीप में ज्वालामुखी के सक्रिय होने पर उड़ान रद्द

ऐसे करें शिकायत

एसएमएस, व्हाट्सऐप, ट्विटर और फेसबुक और अन्य सोशल नेटवर्क, खेल और प्रतिस्पर्धा आदि से निवेश की अनाधिकृत रूप से सलाह देने पर रोक लगाने के लिए सेबी पहले ही एक परिचर्चा पत्र पिछले साल जारी कर चुका है, लेकिन अभी तक इसे लेकर कोई पक्का कानून नहीं बनाया जा सका है। बीएसई और एनएसई के जरिए कोई भी टोल फ्री नंबर, ईमेल या फिर सीधे वेबसाइट पर जाकर शिकायत कर सकता है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top