चुनाव आयोग ने दो दिन में ईवीएम हैक करने की पार्टियों को दी चुनौती

चुनाव आयोग ने दो दिन में ईवीएम हैक करने की पार्टियों को दी चुनौतीईवीएम।

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने ईवीएम के मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक शुरू हो गई। बैठक में चुनाव आयोग ने पार्टियों को चुनौती दी है कि हमारी ईवीएम दो दिन में हैक करे दिखाए। इस बैठक के लिए 7 राष्ट्रीय दलों और 48 क्षेत्रीय दलों सहित कुल 55 पार्टियों को आमंत्रित किया गया था। कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी और आम आदमी पार्टी समेत करीब 16 विपक्षी पार्टियों की ओर से ईवीएम से छेड़छाड़ की आशंका जताई जाने के बाद चुनाव आयोग ने यह बैठक बुलाई है।

बैठक से पहले ही बंटा विपक्ष

शुक्रवार को चुनाव आयोग की सर्वदलीय बैठक में बीजेपी से भूपेन्द्र यादव, जेडीयू से केसी त्यागी, आम आदमी पार्टी से मनीष सिसोदिया और सौरभ भारद्वाज, एनसीपी से डीपी त्रिपाठी और बीएसपी से सतीश चंद्र मिश्र शामिल हुए. लेकिन बैठक में विपक्ष बंटा हुआ नज़र आया। अभी तक ईवीएम में टेंपरिंग की बात कर रहे सौरभ भारद्वाज अब VVPAT से चुनाव कराने की बात कर रहे हैं। तो वहीं बीएसपी बैलेट पेपर से चुनाव कराने के पक्ष में है। वहीं जेडीयू के केसी त्यागी ने कहा कि चुनाव आयोग विश्वास बहाल करे।

चुनाव आयोग का 'चैलेंज'

पिछले महीने चुनाव आयोग ने कहा था कि वो ईवीएम पर सवाल उठा रही पार्टियों को मशीनों के साथ छेड़छाड़ का खुला चैलेंज देगी। इसके लिए आयोग ने सभी पार्टियों को मीटिंग में अपने तीन नुमाइंदे भेजने को कहा है। इनमें से एक तकनीकी विशेषज्ञ होगा। चुनाव आयोग ने ईवीएम मशीनों के लाइव डेमो के लिए इंतजाम किये हैं।

Share it
Top