रेलवे और सेना मिलकर बनाएंगे एलफिंस्टन ब्रिज, जायजा लेने पहुंचे निर्मला-पीयूष-फडणवीस

रेलवे और सेना मिलकर बनाएंगे एलफिंस्टन ब्रिज, जायजा लेने पहुंचे निर्मला-पीयूष-फडणवीस्षामंत्री निर्मला सीतारमण, रेलमंत्री पीयूष गोयल और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जायजा लेने के लिए एलफिंस्टन स्टेशन पह

मुंबई। मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन पर कुछ दिनों पहले भगदड़ मचने के कारण हादसा हुआ था, जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी। अब इस पुल का निर्माण रक्षा मंत्रालय और सेना मिलकर करेगी। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, रेलमंत्री पीयूष गोयल और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस जायजा लेने के लिए एलफिंस्टन स्टेशन पहुंचे हैं।

सेना और रेलवे मंत्रालय युद्ध स्तर पर एलफिंस्टन पुल का निर्माण करेंगे। आपको बता दें कि स्टेशन के पास का कुछ हिस्सा आर्मी के अधीन आता है इसलिए सेना इस काम में हाथ बंटा रही है।

इस मौके पर देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि हम लोग सेना की मदद से तीन ब्रिजों का निर्माण करेंगे, इन ब्रिजों का निर्माण जनवरी तक कर लिया जाएगा। रेलमंत्री पीयूष गोयल बोले कि हमने हादसे के बाद लगातार रेलवे अधिकारियों के साथ मिलकर बैठकें की हैं। एलफिंस्टन, करी रोड और एक अन्य ब्रिज को सेना और रेलवे मिलकर बनाएंगे। रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण बोलीं कि सेना ने हमेशा आपदा के समय ऐसे काम किए हैं, आर्मी इन कामों को जल्दी पूरा करती है।

आपको बता दें कि बीते 29 सितंबर को एलफिंस्टन ब्रिज पर मची भगदड़ के कारण 23 लोगों की मौत हो गई थी। परेल और एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन के बीच ओवर ब्रिज पर हुआ था, जिसमें 35 से ज्यादा लोग घायल हुए थे।

रेलिंग का हिस्सा टूटने से हुआ था हादसा

बताया गया था कि बारिश के कारण ओवर ब्रिज पर फिसलन थी, रेलिंग का हिस्सा टूटने से हादसा हुआ। सरकार ने हादसे में मारे गए सभी लोगों के परिजनों को 10 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की थी। इस मुद्दे पर शिवसेना, मनसे ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा था।

अफवाह था मुख्य कारण: पैनल रिपोर्ट

हादसे की जांच करने वाले पैनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि भगदड़ मचने का मुख्य कारण पुल गिरने की अफवाह मचना रहा। जिसके कारण स्थिति बिगड़ती चली गई। पैनल की रिपोर्ट में ये सामने आया था कि भारी बारिश आने के कारण लोग एक दम से सीढ़ियों पर आ गए। जिससे वहां पर भीड़ हो गई।

Share it
Top