Top

खुले में पेशाब करना सिविल इजीनियर को पड़ा भारी, लगा जुर्माना

खुले में पेशाब करना सिविल इजीनियर को पड़ा भारी, लगा जुर्मानासाभार इंटरनेट

लखनऊ। बीते दिनों खुले में पेशाब करने पर केन्द्रिय मंत्री राधा मोहन सिंह पर किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई मगर कुछ ऐसी ही गलती की सजा एक सिविल इजीनियर को जुर्माना देकर चुकानी पड़ी।

मामला हरिद्वार का है जिलाधिकारी दीपक रावत कुछ दिन पहले कलेक्ट्रेट पिरसर से गुजर रहे थे तभी उनकी नजर सड़क के किनारे लघुशंका कर रहे युवक पर पड़ी। डीएम साहब ने अपनी गाड़ी रुकवाई और युवक की डांट लगा दी।

ये भी पढ़ें- गांव कनेक्शन की कहानी : मुट्ठी भर लोगों ने देखा एक असम्भव सपना

परिचय देते ही लग गया जुर्माना

जिलाधिकारी के पूछे जाने पर जब युवक ने अपना परिचय दिया तो साहब ने युवक पर 5000 रुपये का जुर्माना ठोंक दिया। युवक ने अपना परिचय नगर महापालिका में कार्यरत जूनियर इंजीनियर के रूप में दिया। पिरचय देते ही डीएम साहब का पारा चढ़ गया और कर दिया जुर्माना। बताते चलें कि डीएम दीपक रावत की छवि सख्त और अनुशासनप्रिय अफसर के रूप में है। उन्होने बताया कि पब्लिक यूरिनेशन के लिये कुछ नियम बने हैं। नियम का उल्लंघन करने पर चालान का भी प्रावधान है।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.