बड़ी ख़बर : आपको रिटायरमेंट के दिन ही मिलेगा पीएफ और पेंशन का पैसा 

बड़ी ख़बर : आपको रिटायरमेंट के दिन ही मिलेगा पीएफ और पेंशन का पैसा प्रतीकात्मक फ़ोटो 

नई दिल्ली। अवकाश प्राप्ति कोष निकाय, कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने अपने क्षेत्रीय कार्यालयों को सेवानिवृति के दिन ही पेंशन का निपटारा करने का निर्देश जारी किया है। यह जानकारी संसद को दी गई है। श्रममंत्री बंडारू दात्तात्रेय ने एक प्रश्न के लिखित उत्तर में राज्यसभा को जानकारी दी।

ईपीएफओ के द्वारा अपने सभी क्षेत्रीय कार्यालयों को निर्देश जारी किया गया है कि वे कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) योजना, 1952 और कर्मचारी पेंशन योजना (ईपीएस), 1995 के सदस्यों को सेवानिवृति के दिन को ही भविष्य निधि और पेंशन का भुगतान करें।

ये भी पढ़ें- देश के 14वें राष्ट्रपति होंगे रामनाथ कोविंद, 25 को लेंगे शपथ

मंत्री ने कहा कि ग्रेच्युटी के निपटान के संदर्भ में ग्रेच्युटी भुगतान कानून, 1972 के अनुसार जिस व्यक्ति जिस तिथि से ग्रेच्युटी का भुगतान किया जाना है, नियोक्ता को उसके 30 दिनों के भीतर उस राशि का इंतजाम करना होगा। देश में करीब 48.85 लाख केन्द्र सरकार के कर्मचारी और 55.51 लाख पेंशन प्राप्तकर्ता है।

क्या है ईपीएफ- 5 जरूरी बातें

यह केन्द्र सरकार की नौकरी-पेशा लोगों के लिए सोशल सिक्योरिटी स्कीम है। आपकी सैलरी 15,000 रुपये प्रति माह है तो इस स्कीम में शामिल होना आपके लिए अनिवार्य है। आप यदि नौकरी करते हैं तो आपकी कंपनी आपकी सैलरी से एक हिस्सा काटकर आपके ईपीएप खाते में डाल देती है। इस पैसे को केन्द्र सरकार के इस फंड में डाल दिया जाता है और जरूरत के वक्त ब्याज सहित इस पैसे का आप इस्तेमाल कर सकते हैं। आपकी कंपनी आपको ईपीएफ अकाउंट नंबर देती है। यह अकाउंट नंबर भी आपके लिए बैंक अकाउंट की तरह है क्योंकि इसमें आपके भविष्य के लिए आपका पैसा पड़ा है।

कई कंपनियों में किया काम तो लें UAN नंबर

UAN नंबर का फायदा यह है कि इससे आप अपने ईपीएफ नंबर का खुद से ऑपरेट कर सकते हैं। जरूरत पड़ने पर किसी अन्य बैंक खाते की तरह इस भविष्य निधी खाते से भी पैसे निकाल सकते हैं।

कैसे लें UAN नंबर

आप अपना UAN नंबर उस कंपनी से ले सकते हैं जहां आप नौकरी कर रहे हैं। नौकरी नहीं भी कर रहे हैं और योजना में शामिल होना चाहते हैं तो सीधे ईपीएफओ संस्था से इसे प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़ें- रामनाथ कोविंद के बारे में वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं

कैसे करें UAN नंबर को AADHAR से लिंक (केवाईसी)

आप अपने मोबाइल नंबर को ईपीएफओ पर रजिस्टर करें। रजिस्टर करने के लिए कंपनी से मिला यूएएन नंबर देना होगा।

ईपीएफओ की वेबसाइट पर दिए लिंक (www.epfindia.gov.in) या मोबाइल ऐप के जरिए आप अपना आधार नंबर डाल दें। इस प्रक्रिया को करने के एक हफ्ते के अंदर आपका UAN नंबर, AADHAR और मोबाइल नंबर लिंक हो जाएगा। इसके साथ ही आपको अपने बैंक अकाउंट नंबर और पैन कार्ड भी देना होगा।

केवाईसी(KYC) जरूरी है

इस प्रक्रिया को पूरा करना आपके भविष्य निधी फंड के साथ खाते की केवाईसी है। आपकी पहचान आपके भविष्य निधि खाते के साथ हो जाएगा। अब आप इस खाते से पैसे निकालने और बैलेंस चेक करने के लिए ईपीएफ की वेबसाइट या मोबाइल ऐप के जरिए कर सकते हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिएयहांक्लिक करें।

Share it
Top