चुनाव आयोग का ईवीएम चैलेंज शुरू, हैक करने पहुंचे CPM और NCP के प्रतिनिधि

Karan Pal SinghKaran Pal Singh   3 Jun 2017 10:54 AM GMT

चुनाव आयोग का ईवीएम चैलेंज शुरू, हैक करने पहुंचे CPM और NCP के प्रतिनिधिचुनाव आयोग का ईवीएम हैकिंग शुरू।

नई दिल्ली। चुनाव आयोग का #EVMChallenge शुरु हो गया है। जो दोपहर दो बजे तक चलेगा। एनसीपी और और माकपा ये दो पार्टी इसमें हिस्सा ले रहीं हैं। आप पार्टी पहले ही इस चैलेंज से अपने हाथ खींच चुकी है।

देश भर से मंगाई गईं 14 ईवीएम

इस चैलेंज के लिए निर्वाचन आयोग ने देश भर से 14 ईवीएम मंगाई हैं। आयोग ने उन राज्यों से मशीनें मंगाई हैं, जहां हाल में चुनाव संपन्न हुए। पंजाब के पटियाला, बठिंडा, उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर, गाजियाबाद व उत्तराखंड के देहरादून में इस्तेमाल हुई ईवीएम मंगवाया गया है।

मदरबोर्ड चेंज करने की इजाजत नहीं

चुनाव आयोग पहले ही साफ कर चुका है कि ये ईवीएम चैलेंज होगा, लेकिन इसे हैकॉथन नहीं कहा जा सकता। बता दें कि आप ने ईवीएम का मदरबोर्ड चेंज करने की इजाजत मांगी थी, लेकिन आयोग ने इसे खारिज कर दिया था। कहा कि अगर मदरबोर्ड ही चेंज कर दिया तो वो असली ईवीएम कैसे रहेगा।

चार-चार घंटे मिलेंगे दोनों पार्टियों को

शनिवार को दोनों पार्टियों को चार-चार मशीनें दी जाएंगी। सुबह दस बजे से उनका समय शुरू होगा और दोपहर दो बजे तक चार घंटों के दौरान उन्हें साबित करना होगा कि ईवीएम से छेड़छाड़ करके चुनाव परिणाम को प्रभावित किया जा सकता है। यह दो चरणों में होगा। पहले चरण में पार्टियों को यह साबित करना होगा कि ईवीएम में छेड़छाड़ करके प्रत्याशी या पार्टी विशेष को फायदा पहुंचाया गया। उन्हें कंट्रोल यूनिट में मौजूद परिणाम को बदलकर दिखाना होगा। इसके लिए वह मशीनों के बटनों का इस्तेमाल कर सकेंगे। साथ ही मोबाइल व ब्लूटूथ जैसी डिवाइस के प्रयोग की भी आजादी होगी। दूसरे चरण में उन्हें साबित करना होगा कि विधानसभा चुनाव में इस्तेमाल की गई मशीनों में चुनाव से पहले छेड़छाड़ की गई थी। दोनों दलों के लिए दो अलग-अलग काउंटर स्थापित किए जा रहे हैं।

आप ने पीछे हटाए कदम

ईवीएम पर सबसे ज्यादा सवाल उठाने वाली आम आदमी पार्टी (आप) इस चैलेंज में हिस्सा नहीं लेगी। वह शनिवार को उसी समय चुनाव आयोग की तर्ज पर अपना समानांतर चैलेंज आयोजित करेगी।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top