झारखंड: जिस कुएं के लिए किसान ने लिया कर्ज, उसी में कूद कर दे दी जान

झारखंड: जिस कुएं के लिए किसान ने लिया कर्ज, उसी में कूद कर दे दी जानमृतक किसान लखन महतो। फोटो- नेटवर्क 18

झारखंड के चान्हो थाना क्षेत्र के पतरातू गांव में एक किसान ने रविवार को कुएं में कूद कर खुदकुशी कर ली। इस किसान का नाम लखन महतो था। लखन पर कर्ज का काफी दबाव था, जिसकी वजह से वह मानसिक तनाव से गुजर रहा था।

जानकारी के मुताबिक किसान ने मनरेगा के तहत अपने घर के पास कुएं का निर्माण कराया था, लेकिन मनरेगा के तहत कुएं के लिए जौ पैसे उसे मिलने थे उसका भुगतान नहीं हुआ। इसके बाद उसने अपने रिश्‍तेदारों से कर्ज लेकर कुएं का निर्माण कराया था। लखन ने कुएं के निर्माण के लिए सामग्री और मजदूरी का पैसा देने के लिए यह कर्ज लिया था।

इस कर्ज को चुकाने के लिए वह लगातार प्रखंड कार्यालय के चक्‍कर लगा रहा था। इस वजह से वो परेशान था। लखन अपने परिवार में एकलौते कमाने वाले सदस्‍य थे। लखन की पत्नी विमला देवी ने मीडिया को बताया कि ''कुएं के निर्माण के लिए लखन महतो ने अपने तीन परिजनों से 1 लाख 70 हजार रुपये 2018 के जनवरी और फरवरी के बीच उधार लिये थे, लेकिन 14 महीना बीत जाने के बाद भी वो पैसा नहीं लौटा पाए।'' लखन को मनरेगा की कुआं निर्माण योजना का लाभ मिला था। इसके तहत सरकार से लखन को 1,18,545 रुपये की बकाया राशि मिलने की उम्मीद थी।

इस घटना के बाद बुधवार को लखन महतो के परिजनों से से मिलने नेता प्रतिपक्ष हेमन्त सोरेन पहुंचे। परिजनों से मिलने के बाद उन्‍होंने कहा, सिस्टम ने लखन महतो को मरने पर मजबूर कर दिया। हेमन्‍त सोरेन ने सरकार से लखन महतो की पत्नी को सरकारी नौकरी और दस लाख रुपये मुआवजा देने की अपील भी की।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top