अभी ठंडी नहीं हुई है किसान आंदोलन की आग, देशभर के किसान संगठन कर रहे बड़ी तैयारी 

Mithilesh DubeyMithilesh Dubey   19 Jun 2017 9:14 PM GMT

अभी ठंडी नहीं हुई है किसान आंदोलन की आग, देशभर के किसान संगठन कर रहे बड़ी तैयारी फिर होगा आंदोलन।

लखनऊ। मंदसौर में किसानों पर हुई फायरिंग के ठीक एक महीने के बाद मंदसौर में देशभर के किसान इकट्ठा होंगे और दिल्ली के जंतर-मंतर तक देश के 100 से ज्यादा संगठन जनजागृति यात्रा निकालेंगे। यहां से यात्रा बिहार के चंपारण भी जा सकती है। इसका फैसला जंतर-मंतर पर ही लिया जाएगा। कर्ज माफी और फसल की लागत का डेढ़ गुना मूल्य देने के मुद्दे पर देशभर के 130 किसान संगठन मंदसौर से जंतर-मंतर तक जनजागृति यात्रा निकालेंगे।

ये भी पढ़ें- MP में हिंसक हुआ किसान आंदोलन, फायरिंग में 4 किसानों की मौत, मंदसौर में कर्फ्यू

यात्रा छह जुलाई से शुरू होगी। जय किसान आंदालेन के राष्ट्रीय संयोजक अविक शाह ने गाँव कनेक्शन को बताया हम मंदसौर से 2500 किमी यात्रा करके पहले जंतर-मंतर तक जाएंगे। यहां सभा होगी जिसके बाद हम तय करेंगे कि चंपारण की यात्रा कब की जाए। 17 जून को दिल्ली के गांधी शांति प्रतिष्ठान में किसान संगठनों ने यह फैसला लिया है। अविक आगे बताते हैं कि यात्रा दो अक्टूबर को चंपारण किसान आंदोलन की 100वीं वर्षगांठ पर चंपारण में खत्म हो सकती है। 130 किसान संगठनों ने इस आंदोलन के लिए अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति का गठन किया है। वहीं जय किसान आंदोलन के संस्थापक योगेंद्र यादव ने ट्वीट करके कहा कि मंदसौर व महाराष्ट्र के किसानों से पूरे देश के किसानों को संघर्ष की प्रेरणा मिली है। देशभर में चल रहे किसान आंदोलन को दिशा देने के लिए एक समिति बनाई गई है।

मध्य प्रदेश के मंदसौर में हुई थी हिंसा।

अविक शाह ने कहा कि किसान संगठनों ने बैठक में लोकसभा चुनाव में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को लागू करने के वादे से पीछे हटने पर मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना की। संगठनों ने ये भी यहा फैसला किया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी एक ज्ञापन दिया जाएगा। यात्रा और इसके आगे का आंदोलन सिर्फ कर्ज माफी और लागत से डेढ़ गुना कीमत देने पर फोकस रहेगा। सरकार यदि बातचीत करती है तो इससे कम पर कोई समझौता नहीं होगा।

जगह-जगह होंगी सभाएं

अविक शाह ने बताया कि यात्रा के दौरान रास्ते भर सभाएं की जाएंगी और किसानों को उनके अधिकारों के बारे में बताया जाएगा। यात्रा में लगभग 500 किसान शामिल होंगे जो जंतर-मंतर तक यात्रा करेंगे। यात्रा पूरी यात्रा बाइक से की जाएगी। समिति ने एक वर्किंग ग्रुप बनाया जिसमें महाराष्ट्र के सांसद राजू शेट्टी, पूर्व सांसद हन्नान मोल्लाह (अखिल भारतीय किसान सभा के महासचिव), तमिलनाडु के अय्याकन्नू (तमिलानाडु किसानों के नेता, जिन्होंने 40 दिनों तक जंतर मंतर पर धरना दिया था), कर्नाटक के चंद्रशेखर, मध्य प्रदेश के डा. सुनीलम, मध्य प्रदेश के केदार सिरोही (आम किसान यूनियन), राजस्थान के रामपाल जाट, कविता कुलकर्णी, पंजाब के डॉ़ दर्शनपाल, योगेंद्र यादव शामिल होंगे।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top