Top

मध्य प्रदेश: महिला ने अधिकारियों के सामने खेत में लगा ली आग, कलेक्टर ने बताई ये वजह

अभी गुना की घटना लोग भूले भी नहीं होंगे कि अब देवास से दिल-दहला देने वाली खबर आ रही है। गुना में किसान दंपति ने इसी तरह अतिक्रमण का विरोध करते हुए जहर निगल लिया था।

Pushpendra VaidyaPushpendra Vaidya   30 July 2020 10:51 AM GMT

देवास (मध्य प्रदेश)। मध्य प्रदेश के देवास जिले के सतवास में प्रशासन की कार्रवाई रोकने के लिए महिला किसान ने खुद को आग लगा ली। प्रशासन की टीम जेसीबी लेकर अतिक्रमण हटाने पहुंची थी। खेत में सोयाबीन की फसल लगी थी।

महिला और उसके परिजन कार्रवाई का विरोध कर रहे थे, लेकिन जेसीबी फसल को उजाड़ने लगा। फसल नष्ट होते देख महिला ने पहले तो अपने ऊपर पेट्रोल डाला उसके बाद प्रशासन के सामने पहुंचकर माचिस की तीली से अपने आप को आग के हवाले कर दिया। महिला के पति का आरोप है की उसकी पत्नी सावरा बी ने खड़ी फसल को बर्वाद ना करने का बार बार प्रशासन से अनुरोध किया पर किसी ने एक नहीं सुनी।

इस मामले में पुलिस ने कहा है कि महिला और उसके परिजन अतिक्रमण हटाने गई प्रशासन की टीम पर पथराव किया था। महिला किसान ने आत्मदाह कर दबाव डालने की कोशिश की है। पथराव करने वाले 11 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

पीड़ित महिला के पति रमजान ने बताया, "मेरे खेत में सोयाबीन की फसल लगी हुई है। फिर खेत के बीच से रास्ता निकाल रहे थे। पटवारी और दूसरे पक्ष के लोग शामिल थे। मैंने अपील किया था कि खेत के बीच से रास्ता जा रहा है, उसे रोको। मेरी बीवी मौके पर थी और उसने खुद को आग लगा ली। प्रशासन अतिक्रमण हटाने के बहाने बीच खेत से रास्ता निकाल रहा है।"

महिला किसान का अस्पताल में इलाज चल रहा है। स्थिति खतरे से बाहर है।

इस मामले जिला कलेक्टर चंद्रमौली शुक्ला ने पत्रकारों को बताया, "सतवास तहसील में जो घटना घटित हुई है उसमें राजस्व न्यायालय में मामला दर्ज था। दूसरे पक्ष के लोगों ने शासन की जमीन से रास्ता निकालने का आवेदन दिया था। फिर न्यायालय ने ही पुलिस की मौजूदगी में इन लोगों को बुलाया और इनमें आपसी सहमति बनी की रास्ता खोल दिया जाये। और जब मौके पर राजस्व विभाग की टीम पुलिस के साथ पहुंची अचानक रमजान ने अपनी पत्नी को सावरा बी को बुलाया। उसके ऊपर पहले ही मिट्टी का तेल का छिड़काव हुआ था, उसने खुद को आग लगाने का प्रयास किया।"

यह भी पढ़ें- भूमाफ़िया का पैंतरा, पुलिस की किसान पर ज़्यादती और ज़मीन का केस बन गया राजनीति का मुद्दा

"मौके पर मौजूद पटवारी किशोर ने महिला को बचाने का प्रयास किया तो उन लोगों ने उसके साथ मारपीट की। जो लोग मारपीट में शामिल थे उनके खिलाफ बलवे का मामला दर्ज किया गया है। महिला लगभग पांच फीसदी झुलसी है। उसकी स्थिति एक दम ठीक है। पटवारी और राजस्व निरीक्षक को कान के पास चोट लगी है।" वे आगे बताते हैं।

इस घटना के बाद राजनीति भी शुरू हो गई है। मध्य प्रदेश कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए वीडियो के साथ एक ट्वीट किया है, जिसमें लिखा है, "शिवराज का जंगलराज, सरकार की प्रताड़ना से तंग आकर आग लगाई, देवास ज़िले के सतवास में खड़ी फसल पर जेसीबी चलवाने के शिवराज के फ़ैसले का विरोध करते हुये एक बेबस महिला ने खुद को आग के हवाले कर दिया। शिवराज जी,महामारी और मौत के बीच तो कम से कम जनता को मत मारो..!"शवराज चरम पर है"

Updating...

ये भी पढ़ें- भूमाफ़िया का पैंतरा, पुलिस की किसान पर ज़्यादती और ज़मीन का केस बन गया राजनीति का मुद्दा


Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.