Cricket World Cup 2019: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत का पहला मुकाबला, पढ़ें मैच से जुड़ी 5 खास बातें

विश्व कप में भारतीय क्रिकेट टीम अपने अभियान का आगाज बुधवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करने जा रहे है। गौरतलब है कि इस टूर्नामेंट में अभी तक दक्षिण अफ्रीका का प्रदर्शन अच्‍छा नहीं रहा है। उन्हें अपने दोनों शुरूआती मैच में हार का सामना करना पड़ा है।

Cricket World Cup 2019: दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत का पहला मुकाबला, पढ़ें मैच से जुड़ी 5 खास बातें

लखनऊ। विश्व कप में भारतीय क्रिकेट टीम अपने अभियान का आगाज बुधवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ करने जा रहे है। गौरतलब है कि इस टूर्नामेंट में अभी तक दक्षिण अफ्रीका का प्रदर्शन अच्‍छा नहीं रहा है। उन्हें अपने दोनों शुरूआती मैच में हार का सामना करना पड़ा है। अब उसका सामना इस विश्व कप के दावेदारों में से एक भारतीय टीम से है।

मैच की पांच बड़ी बातें...


इसे भी पढ़ें- Cricket World Cup 2019: रोहित शर्मा और विराट कोहली के निशाने पर होगा गांगुली का 20 साल पुराना रिकार्ड

नंबर एक

दक्षिण अफ्रीका ने अपना पहला विश्व कप वर्ष 1992 में खेला और तब से लेकर अब तक खेले गए वर्ल्ड कप में दोनों टीमों का आमना-सामना चार बार हो चुका है। इनमें से तीन बार दक्षिण अफ्रीकी टीम ने बाजी मारी है जबकि एक बार भारत को जीत मिली है।


नंबर दो

द रोज बाउल स्टेडियम की स्थापना साल 2001 में हुई थी। यह इंग्लिश काउंटी क्रिकेट क्लब हैंपशायर का घरेलू मैदान है। यह नया ग्राउंड है जहां पहली बार कोई वर्ल्ड कप मैच खेला जाएगा। हालांकि इस मैदान में कई वन डे मैच हो चुके हैं। यहां विराट कोहली की कप्‍तानी में पहली भारतीय टीम क्रिकेट खेलेगी।



इसे भी पढ़ें- World Cup 2019: ये बड़ी टीमें अभी तक नहीं जीत पाईं हैं विश्व कप

नंबर तीन

दक्षिण अफ्रीका ने विश्‍व कप में कभी 3 मैच लगातार नहीं हारा है। ऐसे में ये रिकॉर्ड भारतीयों के लिए चिंता की बात है।


नंबर चार

यह मैदान बैटिंग के अनुकूल माना जाता है। 2017 से अब तक यहां सबसे कम स्कोर 288 रन हैं, जबकि ओवरऑल सर्वश्रेष्ठ टीम स्कोर 373 रन हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि जो भी टीम पहले बैटिंग करेगी उसकी कोशिश 350 से अधिक रन बनाने की होगी।


नंबर पांच

इस मैदान पर भारत ने कुल 3 मैच खेले हैं, जिसमें से उसने एक मैच जीता है। भारत को केन्या के खिलाफ 11 सितंबर, 2004 में जीत मिली थी, जबकि उसके बाद उसने दोनों मैच गंवाए हैं। भारत ने ये दोनों मैच मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ 2007 और 2011 में खेला था।


More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top