यूरिया बनाने के लिए देश की हर तहसील में बनेंगे यूरिन बैंक 

यूरिया बनाने के लिए देश की हर तहसील में बनेंगे  यूरिन बैंक केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने यूरिया की कमी को दूर करने के लिए यूरिन बैंक बनाने का सुझाव दिया है। एक मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गडकरी ने कहा है कि प्रत्येक तहसील में मूत्र बैंक बनाया जाना चाहिए, जिससे किसानों को आयातित यूरिया के इस्तेमाल से निजात मिल सके।

नितिन गडकरी के मुताबिक यह आइडिया अभी आरंभिक दौर में है।स्वीडन के वैज्ञानिकों के साथ मिलकर हम इस पर आगे काम करेंगे।

देश की विलुप्त हो रहीं देसी गाय की नस्लों के संरक्षण और नस्ल सुधार का काम किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें-यूरिया-डीएपी से अच्छा काम करती है बकरियों की लेड़ी, 20 फीसदी तक बढ़ सकता है उत्पादन

गडकरी ने कहा कि हमारे पास पहले से फॉस्फोरस और पोटेशियम के लिए कार्बनिक विकल्प उपलब्ध हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मानव मूत्र में बहुत ज्यादा मात्रा में नाइट्रोजन होता हैं।उन्होंने कहा कि इस आइडिया को पूरा करने के लिए प्रारंभिक प्रयोगशाला परीक्षण नागपुर के पास धापेवड़ा गांव में लगाए जाएंगे। गडकरी ने यह भी कहा है कि किसानों को 10 लीटर के डिब्बे में मूत्र को लेकर तालुका केंद्र जाना होगा, जहां पर इससे यूरिया बनाने का काम होगा।

ये भी पढ़ें-यूरिया और डीएपी असली है या नकली ? ये टिप्स आजमाकर तुरंत पहचान सकते हैं किसान

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top