बंगाल हिंसा : सरकार ने अतिरिक्त सुरक्षा बल लेने से किया मना

बंगाल हिंसा : सरकार ने अतिरिक्त सुरक्षा बल लेने से किया मनापश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ।

नई दिल्ली (भाषा)। पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य में सांप्रदायिक हिंसा प्रभावित 24 परगना जिले में अतिरिक्त सुरक्षा बल के रूप में 400 जवानों की जरुरत से इनकार कर दिया है। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने आज बताया कि हिंसा प्रभावित इलाकों में तैनाती के लिये केंद्र सरकार ने अर्धसैनिक बल की आठ कंपनियां भेजी थी। लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार ने इनमें से चार कंपनियों को लेने से इनकार कर दिया है। अर्धसैनिक बल की प्रत्येक कंपनी में करीब 100 जवान होते हैं। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने अतिरिक्त सुरक्षा बल लेने से इनकार करने का कोई कारण भी नहीं बताया है।

संबंधित खबर : बंगाल में सांप्रदायिक हिंसा : भाजपा ने राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की

ज्ञात हो कि पश्चिम बंगाल के 24-परगना जिले के बशीरहाट इलाके में गुरुवार (6 जुलाई) को एक बार फिर हिंसा भड़क चुकी है। पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए लाठीचार्ज किया गया, जिसमें कई लोग घायल हो गए। इस मामले में पश्चिम बंगाल पुलिस ने ट्वीट करके चेतावनी जारी की है, जिसमें कहा गया है कि “जिम्मेदार लोगों को जिम्मेदारीपूर्वक ही ट्वीट करना चाहिए, न कि अफवाह फैलाने या सांप्रदायिक सौहार्द भंग करने के मकसद से। साथ ही अपील की गयी है कि किसी तरह की अफवाह न फैलाएं। प्रशासन शांति एवं सौहार्द बनाए रखने की पूरी जिम्मेदारी लेता है।”

राज्यपाल व सीएम के बीच बढ़ रहा विवाद

राज्‍य में सांप्रदायिक हिंसा के बीच सीएम व राज्‍यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी के बीच विवाद भी बढ़ता दिख रहा है। राज्यपाल व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच उत्तर 24 परगना जिले के बदुरिया में सांप्रदायिक हिंसा को लेकर टेलीफोन पर तीखी बातचीत हुई। इसके बाद ममता ने त्रिपाठी पर अपमानित करने व धमकी देने का आरोप लगाया। हालांकि, राजभवन ने इन आरोपों से इनकार करते हुए एक प्रेस विज्ञप्ति जारी की और ममता के ‘व्यवहार व भाषा’ को लेकर आश्चर्य जताया।

संबंधित खबर : फेसबुक पोस्ट को लेकर बंगाल में भड़की हिंसा, गृह मंत्रालय ने मांगी रिपोर्ट, इंटरनेट सेवाएं ठप

आपको बता दें कि राज्य के 24 परगना जिले में बसीरहाट उपमंडल के बदूरिया में सोमवार को एक अपत्तिजनक फेसबुक पोस्ट के कारण हिंसा भड़क उठी थी।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Share it
Top