गुजरात-महाराष्ट्र में पेट्रोल-डीजल सस्ता, दोनों सरकारों ने घटाया वैट 

Sanjay SrivastavaSanjay Srivastava   10 Oct 2017 4:40 PM GMT

गुजरात-महाराष्ट्र में पेट्रोल-डीजल सस्ता, दोनों सरकारों ने  घटाया वैट प्रतीकात्मक फोटो। साभार: गूगल

गांधीनगर (भाषा)। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने आज कहा कि राज्य सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर 4 फीसद मूल्य वदर्धित कर (वैट) कम करने का निर्णय किया है। ईंधन की कीमतों में यह कमी दिवाली से मात्र कुछ दिन पहले की गई है और राज्य में इसी साल के अंत तक विधानसभा चुनाव भी होने हैं। उधर महाराष्ट्र सरकार ने भी पेट्रोल, डीजल पर वैट कम किया, इसके परिणामस्वरुप आज मध्यरात्रि से पेट्रोल का दाम दो रुपए और डीजल एक रुपए प्रति लीटर सस्ता हो जाएगा।

यहां एक प्रेस वार्ता में विजय रुपानी ने कहा, केंद्र सरकार के निर्देशों के बाद गुजरात सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर 4 फीसद वैट कम करने का निर्णय किया है, नई कीमत आज रात मध्यरात्रि से प्रभावी होंगी। उन्होंने कहा कि इसके बाद राज्य में पेट्रोल की कीमत 2.93 रुपए घटकर 66.53 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत 2.72 रुपए कम होकर 60.77 रुपए प्रति लीटर हो जाएगी।

इससे गुजरात राज्य के खजाने को 2,316 करोड़ रुपए वार्षिक नुकसान होगा। वैट से राज्य की सालाना आय 12,000 करोड़ रुपए है। हालांकि इस पर विजय रुपानी ने कहा कि उन्होंने यह फैसला लोगों के हित में किया है। अंतिम बार राज्य सरकार ने जनवरी 2016 में ईंधन पर वैट में बढ़ोत्तरी की थी। यह तब किया गया था जब अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें कम हुईं थीं।

देश-दुनिया से जुड़ी सभी बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करके इंस्टॉल करें गाँव कनेक्शन एप

उल्लेखनीय है कि हाल ही में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने सभी राज्यों से ईंधन पर स्थानीय कर घटाने के लिए कहा था जिसके बाद चुनाव के लिए तैयार गुजरात में इस पर वैट की दरें कम की गई हैं। हाल ही में केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल पर दो रुपए प्रति लीटर की दर से उत्पाद शुल्क कम किया था।

कांग्रेस ने कहा चुनावी हथकंडा

गुजरात के विपक्षी दल कांग्रेस ने कहा है कि यह कदम आने वाले राज्य विधानसभा चुनावों को देखते हुए उठाया गया है। पार्टी का कहना है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के राज्य दौरे को मिली जबर्दस्त प्रतिक्रिया से बने दबाव को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।

कांग्रेस प्रवक्ता शक्तिसिंह गोहिल ने कहा, कीमतों में यह कमी चुनावों को ध्यान में रखते हुए की गई है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को गुजरात दौरे में मिल रहे समर्थन से सरकार दबाव में आ गई।

More Stories


© 2019 All rights reserved.

Top