ये है राजस्थान का पहला ऐसा रेलवे स्टेशन जिसका संचालन कर रही हैं महिला कर्मचारी

ये है राजस्थान का पहला ऐसा रेलवे स्टेशन जिसका संचालन कर रही हैं महिला कर्मचारीसाभार: इंटरनेट।

जयपुर का गांधीनगर स्टेशन अब ऑल वुमन स्टेशन बन गया है। यानी अब इस स्टेशन पर ट्रेनों के संचालन से लेकर सभी तरह के काम महिलाओं के हाथ में आ गए हैं। नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे की इस पहल से गांधीनगर राजसथान में ऐसा पहला स्टेशन बन गया है जहां महिलाओं के हाथ में बड़ी जिम्मेदारी है। हालांकि मुंबई का माटुंगा स्टेशन भी पूरी तरह से महिलाओं द्वारा ही संचालित है। इस स्टेशन पर तैनात जीआरपी टीम में भी महिलाएं हिस्सा लेंगी।

स्टेशन के सभी पदों पर हैं महिलाएं

गांधीनगर स्टेशन पर वर्तमान में सभी पदों पर महिला कर्मियों की तैनाती है। स्टेशन मास्टर एंजेला स्टेला ने बताया कि स्टेशन सुप्रिंटेंडेंट का पद हो या हेड टिकट कलेक्टर का, आरपीएफ के कांस्टेबल का हो या फिर आरक्षण क्लर्क का, सभी पदों पर महिलाएं ही तैनात हैं।

ये भी पढ़ें- लिम्का बुक ऑफ़ रिकार्ड्स में शामिल हुआ महिला स्टाफ़ द्वारा संचालित भारत का पहला रेलवे स्टेशन माटुंगा

25 ट्रेनों का स्टॉपेज है गांधीनगर स्टेशन पर

गांधीनगर स्टेशन पर रोजाना 25 ट्रेनें रुकती हैं। इसके अलावा 50 से ज्यादा ट्रेनों की यहां से रोजाना आवाजाही होती है। ऐसे में इस स्टेशन पर कार्यरत कर्मियों का काम काफी मशक्कत भरा होता है। स्टेशन मास्टर बताती हैं कि 7 हजार से ज्यादा पैसेंजर्स इस स्टेशन से रोज आवागमन करते हैं।

ताजा अपडेट के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहां, ट्विटर हैंडल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें।

Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.