Top

Gaon Connection Exclusive: पेप्सिको ने जिन किसानों पर मुकदमा किया है सुनिए वे क्या कह रहे हैं

किसानों का कहना है कि पेप्सी ने ना सिर्फ उन पर मुकदमा किया बल्कि उनका स्टिंग ऑपरेशन भी किया।

- मिथिलेश धर दूबे/ रणविजय सिंह

साबरकांठा, गुजरात। "हम वर्षों से आलू उगाते हैं, जिसमें सफेद आलू की एक खास किस्म भी है। पेप्सिको वाले एक दिन हमारे पास आए और पूछा कि क्या पेप्सिको की आलू एफसी-5 हमें बेचोगे? इस पर मैंने कहा कि मुझे पता नहीं कि यह पेप्सिको का आलू (एफसी-5) है लेकिन हम सफेद आलू उगाते हैं और वो हम बेच सकते हैं। इसके कुछ दिन बाद वे हमारे खेत में भी आए और खेत में से आलू निकालने लगे। उन्होंने आलू का सैंपल लिया और चले गए। उन्होंने हमारा स्टिंग किया और हमें कुछ पता भी नहीं चला। कुछ दिनों बाद मेरे पास कोर्ट का नोटिस आया कि पेप्सिको ने उन पर केस दर्ज किया है। स्वतंत्र भारत में भी किसानों का अंग्रेजों के जमाने जैसा हाल हो रहा है।", गुजरात के साबरकांठा जिले के बडोलकंपा के किसान विनोद पटेल इतना बताते-बताते रूक जाते हैं।

अपनी व्यथा सुनाते विनोद भाई पटेल

विनोद पटेल उन चार किसानों में से एक हैं जिन पर अमेरिका की खाद्य और पेय पदार्थ कंपनी पेप्सिको ने अवैध रूप से आलू की एक विशेष किस्‍म उगाने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दायर किया है। पेप्सिको का आरोप है कि यह किसान अवैध रूप से आलू की एक ऐसी किस्‍म को उगा और बेच रहे थे जिसे पेप्‍स‍िको ने रजिस्‍टर करा रखा है। पेप्सिको का दावा है कि आलू के इस किस्‍म से वे Lays ब्रैंड के चिप्‍स बनाते हैं और इसे उगाने का उनके पास एकल अधिकार है। कंपनी ने प्रोटेक्‍शन ऑफ प्‍लांट वैराइटी एंड फार्मर्स राइट एक्‍ट, 2001 के तहत इस किस्‍म को 2012 में पंजीकृत कराया है।

पढ़ें- 'पेप्‍स‍िको आलू किसानों पर से वापस ले मुकदमा, कानूनी तौर पर वो गलत'

गांव कनेक्शन की टीम ने इन किसानों का पक्ष सुनने के लिए इनके गांवों का दौरा किया और उनसे खास बातचीत की। साबरकांठा जिले के ही वडाला तालुका के लक्ष्मणपुरा गांव में रहने वाले विपिन पटेल उन चार किसानों में से एक हैं जिन पर मुकदमा दर्ज हुआ है। विपिन पटेल ने गांव कनेक्शन से खास बात-चीत में बताया कि उन्हें इस मुकदमे के बारे में तब पता चला जब 11 अप्रैल को उन्हें कोर्ट से नोटिस मिला। पेप्सिको का आरोप है कि किसानों ने उनकी आलू की फसल एफसी-5 का उत्पादन किया है। जबकि विपिन पटेल का कहना है कि उन्होंने कोई अपराध नहीं किया है, वह सफेद आलू उत्पादित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि यह सफेद आलू एफसी-5 के किस्म के साथ मिल सकता है लेकिन वह एफसी-5 आलू नहीं था।

विपिन पटेल ने कहा कि पेप्सिको ने व्यापारी बन कर उनका स्टिंग ऑपरेशन किया

गांव कनेक्शन से एक्सक्लूसिव बातचीत में विपिन पटेल ने कहा कि पेप्सिको ने इसके लिए उनकी निजता (प्राइवेसी) के साथ खिलवाड़ किया और उनका स्टिंग ऑपरेशन किया। इसलिए जब कोर्ट से नोटिस आया तो उसके साथ एक पेन ड्राइव भी था, जिसमें उनके साथ किए गए स्टिंग ऑपरेशन का वीडियो था।

आपको बता दें कि इस मामले में किसान संगठनों और सिविल सोसाइटी के प्रतिनिधिमंडल ने मांग की है कि किसानों पर किए गए मुकदमें को पेप्‍सिको तुरंत वापस ले। साथ ही इस मामले में सरकार भी दखल दे, जिससे किसानों के अधिकार की रक्षा हो सके।

(इस मामले में जल्द ही विस्तृत रिपोर्ट गांव कनेक्शन पर...)

पढें- पेप्‍स‍िको ने आलू किसानों के सामने रखी शर्त, कोर्ट के बाहर हो सकता है समझौता लेकिन...

Pepsico ने गुजरात के आलू किसानों से केस वापस लिया, जानिए क्या था मामला



Next Story

More Stories


© 2019 All rights reserved.